फीस जमा नहीं होने पर बच्चियों को बेसमेंट में बंधक बनाकर रखने का आरोप

नई दिल्ली। दिल्ली के बल्लीमारान इलाके के राबिया पब्लिक स्कूल में फीस न जमा हो पाने के कारण स्कूल मैनेजमेंट द्वारा 59 मासूम छात्राओं को स्कूल के बेसमेंट में करीब 5 घंटे तक बंधक बनाये रखे जाने का मामला प्रकाश में आया है।

40 ड्रिग्री तापमान में भूखी-प्यासी बच्चियां दोपहर होने का इंतजार कर रही थीं, ताकि जल्दी से उनके माता-पिता आयें और उन्हें इस कैदखाने से आजादी मिले. जब अभिभावक पहुंचे, देखते ही बच्चे बुरी तरह रो पड़े। इस घटना के बाद बच्चियों के माता पिता ने स्कूल में जमकर हंगामा काटा।

यह घटना मंगलवार की है जिसकी सूचना मिलने के बाद बुधवार को दिल्ली सरकार के शिक्षा विभाग की टीम स्कूल पहुंची। आम आदमी पार्टी के विधायक इमरान हुसैन भी स्कूल पहुंचे और हालात का जायजा लिया।

पुलिस ने जूवेनाइल जस्टिस ऐक्ट की धारा 75 के खिलाफ केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है। मामले ने मंगलवार को उस वक्त तूल पकड़ा जब इस हैरतअंगेज घटना का वीडियो और तस्वीर सामने आया जिसमें नजर आ रहा है कि छात्राओं को बेसमेंट में बंद किया गया है।

ये विडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो चला है। वीडियो सामने आने के बाद स्कूल प्रबंधन के खिलाफ अभिभावकों में गहरा रोष है। वीडियो में नजर आ रहा है कि लड़कियां बेसमेंट में फर्श पर बैठी हैं। आरोप तो यह भी है कि वहां पंखे भी नहीं थे।

वहीँ स्कूल की हेड मिस्ट्रेस फराह दीबा का कहना है कि बच्चो को बंद नहीं किया गया था। बच्चे बेसमेंट में खेलने गए थे और उस दिन बेसमेंट के पंखे रिपेरिंग के लिए भेजे गए थे।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें