फैज़ाबाद के बाद अब अहमदाबाद का नाम बदले जाने के कयास

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज और फैज़ाबाद का नाम बदलकर अयोध्या किये जाने के बाद अब कयास लगाए जा रहे हैं कि गुजरात में बीजेपी सरकार अहमदाबाद का नाम बदल सकती है।

इस बीच गुजरात सरकार ने ऐलान किया कि यदि लोगों का समर्थन मिला और कोई कानूनी बाधा नहीं आई तो वह अहमदाबाद का नाम बदलकर कर्णावती करने के लिए तैयार है। राज्‍य के उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल ने कहा कि अहमदाबाद के लोग कर्णावती नाम पसंद करते हैं।

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक उन्‍होंने कहा, ‘लंबे समय से ही अहमदाबाद का नाम बदलकर कर्णावती किए जाने की मांग उठ रही है। यदि कानूनी प्रक्रिया के लिए हमें लोगों की सहायता मिली तो हम नाम बदलने के लिए तैयार हैं।’

उन्होंने कहा कि अहमदाबाद के लोग कर्णावती नाम पसंद करेंगे। जब उचित समय आएगा तो हम नाम बदल देंगे। बता दें कि अहमदाबाद भारत का एकमात्र शहर है जिसे ‘विश्‍व विरासत’ का तमगा हासिल है।

ऐतिहासिक दृष्टिकोण से देखें तो अहमदाबाद के आसपास का इलाका 11वीं सदी में बसना शुरू हुआ। उस समय इसे अशवाल कहा जाता था। चालुक्‍य शासक कर्ण ने अशवाल के भील शासक को युद्ध में हराकर साबरमती नदी के किनारे कर्णावती शहर को बसाया था।

सुल्‍तान अहमद शाह ने 1411 ईस्‍वी में कर्णावती के पास एक नए शहर की नींव रखी और इसका नाम अहमदाबाद रखा। अहमद शाह ने यहां के चार संतों के नाम पर इस नए शहर का नाम अहमदाबाद रखा।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें