फूलपुर उपचुनाव: मुश्किल में बीजेपी उम्मीदवार, पहली पत्नी ने कहा “बेटी हुई तो बहुत सताया था’

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के फूलपुर में होने जा रहे लोकसभा उप चुनाव में बीजेपी ने जिस उम्मीदवार को मैदान में उतारा है, उसके पुराने कारनामो से बीजेपी की किरकिरी हो रही है।

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा देने वाली बीजेपी के उम्मीदवार पर आरोप लगा है कि उसने बेटी पैदा होने पर अपनी पत्नी को बहुत सताया था। इतना ही नहीं बीजेपी उम्मीदवार कौशलेन्द्र सिंह पर यह भी आरोप लगा है कि उन्होंने पहली पत्नी के रहने बिना रजामंदी लिए दूसरी शादी भी कर ली थी।

बीजेपी उम्मीदवार की पहले पत्नी रीतू सिंह ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बेटी बचाओ मुहिम की बात करते हैं, ऐसे में बेटी पैदा होने पर पत्नी को सताकर दूसरी शादी करने वाले शख्स को पार्टी से बाहर करें।

ईटीवी से बात करते हुए कौशलेन्द्र सिंह की पहली पत्नी ने कहा कि ‘बेटी पैदा होने पर ससुरालवाले परेशान करने लगे। पिटाई करते थे। बेटी के रोने पर आसपास के लोगों को पता न चले, इस नाते प्रताड़ित करने से पहले बेटी को ससुराल के लोग छीनकर दूसरे कमरे में लेकर चले जाते थे।’

रीतू ने कहा कि बेटी के जन्म के बाद लगातार तबीयत खराब रहने लगी तो वह मायके आ गईं। तीन महीने बाद पता चला कि पति कौशलेंद्र ने दूसरी शादी रचा ली है। बाद में गलत ढंग से तलाक भी दे दिया। रीतू ने कहा कि प्रताड़ित किये जाने का सिलसिला यहीं नहीं थमा, जब बेटी बड़ी हुई तो उस पर भी खूब दबाव डालकर परेशान करने लगे। चार से पांच बार हाईकोर्ट में पेशी कराकर उन्होंने परेशान किया। उसे अपने पास बुलाने लगे। मगर बेटी नहीं गई।

रीतू सिंह ने कहा,’ससुरालवालों ने उनकी इज्जत भी उछालने की कोशिश की। जबकि पति ने दूसरी शादी कर ली, हमने नहीं। अगर मैं गलत होती तो दूसरी शादी कर चुकी होती।’

रीतू सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ की बात करते हैं। जबकि बेटी पैदा होने पर यह सजा मिलती है। कम से कम प्रधानमंत्री जी ऐसे लोगों को तो अपनी पार्टी में न रखें।

गौरतलब है फूलपुर से बीजेपी ने कौशलेन्द्र सिंह पटेल को उम्मीदवार बनाया है। इससे पहले कौशलेंद्र बनारस के मेयर भी रह चुके हैं। कौशलेन्द्र सिंह की पहली पत्नी द्वारा किये गए खुलासा के बाद अब फूलपुर में बीजेपी उम्मीदवार के लिए मुश्किलें पैदा हो सकती हैं।

 

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *