फिर हेराफेरी : चुनाव आयोग बताये कहाँ गए शबाना के वोट

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश में हुए निकाय चुनावो में एक ऐसा मामला सामने आया है जिसने पूरी चुनावी प्रक्रिया पर सवालिया निशान लगा दिए हैं। सहारनपुर में वोटों की गिनती के दौरान नूरबस्ती इलाके से निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ीं शबाना के खाते में एक भी वोट नहीं निकला।

शबाना का कहना है कि चलो मान लिया जाये कि उसे किसी ने वोट नहीं दिया लेकिन उसका अपना और उसके पति द्वारा दिया गया वोट कहाँ गया ? शबाना ने पूरी प्रक्रिया पर सवाल उठाते हुए इसमें धांधली की शंका ज़ाहिर की है।

शबाना ने ईवीएम पर सवाल उठाते हुए कहा कि ऐसा तो नहीं हो सकता कि मैं भी खुद को वोट न दूँ या मेरे पति भी मुझे वोट न दें। वोटों की गिनती में कम से कम हम पति पत्नी के वोट तो निकलने चाहिए थे। उन्होंने सवाल किया कि आखिर वोट कहाँ गए ?

शबाना के इस मामले के खुलासे के बाद एक बार फिर ईवीएम को लेकर सवाल उठना लाजमी है। वहीं निकाय चुनावो में वोटर लिस्ट से वोटरों के नाम गायब होने का मामला पहले ही उठ चूका है।

उत्तर प्रदेश के अधिकांश इलाको में वोटर लिस्ट से एक समुदाय विशेष के लोगों के नाम गायब होने से कई जगह चुनाव के दिन मतदाताओं को खासी दिक्क्त झेलनी पड़ी थी। वोटरलिस्ट से नाम गायब होने पर कई बूथों पर मतदाताओं ने हंगामा भी किया था।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें