फिर खाली हाथ आसाराम, नहीं मिली राहत, अब 8 हफ्ते बाद होगी सुनवाई

नई दिल्ली। रेप के मामले में जेल में बंद आसाराम बापू को आज भी सुप्रीमकोर्ट से कोई राहत नहीं मिली। अभी आसाराम को जेल में ही रहना पड़ेगा क्यों कि सुप्रीमकोर्ट ने उनकी ज़मानत याचिका पर तब तक सुनवाई से इंकार कर दिया है जब तक गुजरात के गांधी नगर में दर्ज हुए रेप के मामले में पीड़ित के बयान दर्ज नहीं हो जाते।

इस मामले में अगली सुनवाई अब आठ हफ्ते बाद होगी। कोर्ट के इस रुख के बाद फिलहाल आठ हफ्ते तो आसाराम जेल में ही रहेंगे। ज़मानत याचिका पर सुनवाई के बाद ही तय हो पायेगा कि सुप्रीमकोर्ट आसाराम को ज़मानत देगा या नहीं।

ज़मानत को लेकर आसाराम की तरफ से उनकी सेहत का हवाला देते हुए सुप्रीमकोर्ट में दाखिल याचिका में कहा गया है कि आसाराम की उम्र ज्यादा हो चुकी है। उनको सेहत की परेशानी भी है। ऐसे में जमानत याचिका पर जल्द सुनवाई हो।

इस मामले में अभियोजन पक्ष ने सुप्रीम कोर्ट में बताया कि 29 जनवरी से गुजरात की निचली अदालत में पीड़ित के बयान दर्ज होने हैं। इस पर कोर्ट ने कहा कि पहले पीड़ित का बयान दर्ज हो उसके बाद जमानत याचिका पर विचार होगा।

गौरतलब है कि जोधपुर में हुए मामले से अलग रेप के इस मामले में सुप्रीम कोर्ट में आसाराम ने जमानत याचिका की जल्द सुनवाई की अर्ज़ी डाली है। पिछली सुनवाई में कोर्ट ने आसाराम के खिलाफ धीमी सुनवाई पर सवाल करते हुए गुजरात सरकार से इस बाबत पूछा था। सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार से पूछा है कि अभी तक पीड़ित के बयान क्यों नही दर्ज किए।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें