प० बंगाल: बीजेपी की यात्रा के बाद तृणमूल कांग्रेस करेगी शुद्धिकरण यात्रा

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में अपनी जड़ें जमाने की कोशिशों में जुटी भारतीय जनता पार्टी रथ यात्रा निकालने जा रही है। इस रथ यात्रा की शुरुआत बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह करेंगे।

वहीँ बीजेपी की रथ यात्रा के जबाव में तृणमूल कांग्रेस ने शुद्धिकरण यात्रा निकालने का एलान किया है। तृणमूल कांग्रेस ने बीजेपी की रथ यात्रा को रावण यात्रा करार दिया है।

तृणमूल कांग्रेस की नेता और पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने बीजेपी की रथयात्रा को सियासी हथगण्डा बताते हुए लोगों से अपील की है कि इस यात्रा को नज़रअंदाज करें। ये रथ यात्रा एक महज सियासी हथगण्डा है।

उन्होंने कहा कि मैंने अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं से कहा है कि जिन इलाकों से होकर रथ गुजरेगा वहां की सफाई के लिये ‘शुद्धिकरण और एकता यात्रा’ का आयोजन करें। मुझे हैरानी है कि पांच सितारा सुविधाओं से युक्त रथों में यह किस तरह की यात्रा होगी? यह ‘रावण यात्रा’ है, न कि ‘रथ यात्रा’।

गौरतलब है कि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह प्रदेश में पांच, सात और नौ दिसंबर को तीन ‘रथ यात्रा’ शुरू करेंगे जो बंगाल के सभी 42 लोकसभा क्षेत्रों में घूमेगी।इस ‘यात्रा’ के समापन पर पार्टी की कोलकाता में एक विशाल रैली करने की योजना है जिसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा संबोधित किये जाने की संभावना है।

वहीँ दूसरी तरफ कांग्रेस और सीपीएम ने एलान किया है कि वे अमित शाह की रथ यात्रा के जबाव में पदयात्रा कर लोगों को बीजेपी की हकीकत से रूबरू कराएँगे। यह पदयात्रा दिसंबर के आखिरी सप्ताह में शुरू किये जाने की सम्भावना है।

पश्चिम बंगाल कांग्रेस अध्यक्ष सोमेन मित्रा ने कहा कि जन संपर्क यात्रा का मकसद लोगों को पार्टी के कामों से अवगत कराना और नरेंद्र मोदी सरकार के भ्रष्टाचार,सांप्रदायिक राजनीति व कुशासन के बारे में बताना है।

मित्रा ने कहा, ‘राज्य के प्रत्येक जिले, ब्लॉक और बूथ तक हमारे पार्टी कार्यकर्ता लोगों तक जाएंगे। हम उन्हें अवगत कराएंगें. हम पार्टी के लिए प्रत्येक घर से दो से पांच रूपए का चंदा भी इकट्ठा करेंगे. इन कार्यक्रमों से हम अपनी पार्टी को मजबूत करेंगे।’

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें