प्रयागराज में कुंभ स्नान से राजनैतिक पारी शुरू कर सकती हैं प्रियंका

नई दिल्ली। कांग्रेस की नव न्युक्त महासचिव और पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी प्रयागराज में चल रहे कुंभ मेले में पवित्र स्नान के साथ अपना राजनैतिक सफर शुरू कर सकती हैं।

उत्तर प्रदेश की राजनीति को ध्यान में रखकर प्रियंका गांधी कुंभ मेले का दौरा कर सकती हैं। हालाँकि अभी तक कांग्रेस ने आधिकारिक तौर पर प्रियंका गांधी के कुंभ मेले कार्यक्रम में भाग लेने की पुष्टि नहीं की है लेकिन ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि प्रियंका गांधी कुंभ मेले में शामिल होकर एक तीर से कई निशाने साध सकती हैं।

इससे पहले वर्ष 2001 के कुंभ मेले में तत्कालीन कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी भी भाग ले चुकी हैं और उन्होंने पवित्र गंगा में डुबकी भी लगायी थी। इसलिए अब कयास लगाए जा रहे हैं कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और प्रियंका गांधी दोनों कुंभ मेंले में भाग लेने प्रयागराज पहुँच सकते हैं।

ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि राहुल गांधी अपनी बहिन प्रियंका के साथ 04 फरवरी को मौनी अमावस्या के अवसर पर दूसरे शाही स्नान में शामिल हो सकते हैं। यदि किसी कारणवश ऐसा नहीं हुआ तो 10 फरवरी को बसंत पंचमी के मौके पर आयोजित तीसरे शाही स्नान के दिन प्रियंका और राहुल प्रयागराज पहुंचकर कुंभ मेले में शामिल हो सकते हैं।

गौरतलब है कि प्रियंका गांधी को पूर्वी उत्तर प्रदेश का प्रभारी भी बनाया गया है। इस लिहाज ने प्रयागराज (इलाहाबाद) उनके लिए बेहद महत्वपूर्ण साबित हो सकता है।

फ़िलहाल इस बात को लेकर भी चर्चाएं जोरो पर हैं कि प्रियंका स्वयं इलाहाबाद से लोकसभा चुनाव लड़ सकती हैं। इसलिए भी कयास लगाए जा रहे ऐन कि प्रियंका गांधी कुम्भ मेले में भाग लेने प्रयागराज अवश्य पहुंचेंगी।

चूँकि इलाहाबाद कभी कांग्रेस का गढ़ माना जाता था इसलिए कांग्रेस की कोशिश होगी कि वह इलाहाबाद में एक बार फिर से अपनी पुरानी जड़ें टटोले और इस पारम्परिक सीट को वापस जीते। जानकारों की माने तो यदि प्रियंका इलाहाबाद से अपना राजनैतिक सफर शुरू करती हैं तो यहाँ से एक सकारात्मक सन्देश पूरे पूर्वी उत्तर प्रदेश में जाएगा।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें