पूर्व सांसद तबस्सुम हसन रालोद में शामिल, कैराना से होंगी सपा रालोद गठबंधन की उम्मीदवार

नई दिल्ली। पूर्व सांसद तबस्सुम हसन ने रालोद राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी अजित सिंह और राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयंत चौधरी की उपस्थिति में राष्ट्रीय लोकदल की सदस्यता ग्रहण की।

कैराना में होने जा रहे लोकसभा सीट के लिए उपचुनाव में तबस्सुम हसन सपा रालोद गठबंधन की उम्मीदवार होंगी। इससे पहले कल रालोद के प्रवक्ता अनिल दुबे ने एलान किया था कि कैराना लोकसभा सीट और नूरपुर विधानसभा सीट पर रालोद और समाजवादी पार्टी में गठबंधन करके उम्मीदवार उतारे जायेंगे।

मीडिया में आयी खबरों के मुताबिक अब कैराना सीट पर गठबंधन के प्रत्याशी के तौर पर रालोद की तरफ से तबस्सुम हसन उम्मीदवार होंगी वहीँ नूरपुर विधानसभा सीट पर गठबंधन उम्मीदवार के तौर पर समाजवादी पार्टी की तरफ से नईमुल हैं उम्मीदवार होंगे।

तबस्सुम हसन वर्ष 2009 में बसपा उम्मीदवार के तौर पर कैराना से चुनाव जीत कर संसद पहुंची थी। कैराना में वे अभी भी अन्य उम्मीदवारों की तुलना में हैवी वेट साबित हो सकती हैं।

कैराना लोकसभा सीट पर मुस्लिम और जाट मतदाताओं को निर्णायक भूमिका में माना जाता है। ऐसे में तबस्सुम जहाँ के रालोद में शामिल होने से उन्हें मुस्लिम जाट कॉम्बिनेशन का पूरा लाभ मिलने की सम्भावना व्यक्त की जा रही है।

जानकारों के अनुसार तबस्सुम हसन स्वयं मुस्लिम समुदाय से आती हैं और रालोद के परम्परागत मतदाताओं का एक बड़ा हिस्सा जाट समुदाय से माना जाता है। हालाँकि सपा रालोद गठबंधन की अभी आधिकारिक घोषणा बाकी है लेकिन जानकारों की माने तो अब महज औपचारिकताएं ही बाकी रह गयी हैं।

 

Share

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें