पूर्व केंद्रीय मंत्री सुखराम की अपने पोते के साथ कांग्रेस में घर वापसी

नई दिल्ली। पूर्व केंद्रीय मंत्री सुखराम ने एक बार फिर कांग्रेस में वापसी कर ली है। सुखराम के साथ उनके पोते आश्रय शर्मा भी आज कांग्रेस में शामिल हो गए। करीब डेढ़ साल पहले सुखराम कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल हो गए थे।

माना जा रहा है कि कांग्रेस सुखराम के पोते आश्रय शर्मा को मंडी लोकसभा सीट से उम्मीदवार बना सकती है। सुखराम के बेटे अनिल शर्मा हिमाचल प्रदेश की जयराम सरकार में ऊर्जा मंत्री हैं।

पंडित सुखराम बोले मैं राहुल गांधी से दो माह पहले मिला व इस बात से प्रभावित हुआ कि हमारे राजनीतिक नहीं पारिवारिक रिश्‍ते हैं। मैं अपने घर आया हूं, पूरा जीवन कांग्रेस में गुजरा है। अब जिंदगी के इस मोड़ पर किसी से द्वेष नहीं है।

उन्‍होंने वीरभद्र पर निशाना साधा। उन्‍होंने कहा वीरभद्र सिंह ने मेरी मजबूरी का फायदा उठाया। अब पोता कांग्रेस को दिया व विकास की राह पर अग्रसर होगा। उन्‍होंने भाजपा पर निशाना साधा कि पार्टी किस मुंह से बोल रही है कि मैं भाजपा का सदस्‍य नहीं रहा।

वहीँ कहा जा रहा है कि कांग्रेस पार्टी ने पंडित सुखराम के समक्ष अनिल शर्मा की घर वापसी की शर्त रखी है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कौल सिंह ठाकुर का कहना है कि पंडित सुखराम परिवार की घर वापसी पर किसी को कोई आपत्ति नहीं है, बशर्ते अनिल शर्मा जयराम कैबिनेट से इस्तीफा दें।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें