गुजरात में दलित उत्पीड़न का मामला: पुलिस कर्मियों पर दलित से जूते चटवाने का आरोप

अहमदाबाद। गुजरात में एक बार फिर दलित उत्पीड़न का मामला सामने आया है। एक पुलिस स्टेशन में एक दलित आरोपी को न सिर्फ कई पुलिसवालों जूते चाटने को मजबूर किया बल्कि उसकी जमकर पिटाई भी की।

मामला 29 दिसंबर का है। इस घटना को लेकर पीड़ित ने गुजरात की राजधानी से अहमदाबाद के अमराईवाड़ी इलाके में मामला दर्ज कराया है। हर्षद जाघव नामक दलित व्यक्ति ने आरोप लगाया है कि 28 दिसंबर को रात में पुलिस उसे थाने लेकर आयी थी।

उसके बाद पीड़ित की जानकारी मांगने पर पीड़ित द्वारा खुद को दलित बताये जाने के बाद पुलिस ने उस पर कहर बरपाया, उसका अपमान किया। यहाँ तक कि थाने में मौजूद 15 पुलिस कर्मियों के जूते चाटने को भी मजबूर किया।

वहीँ पुलिस के अनुसार शिकायत करने वाले दलित व्यक्ति हर्षद जाघव पर पुलिस कर्मी के साथ मारपीट का आरोप है। जिसके चलते उसे पुलिस टीम 28 दिसंबर को गिरफ्तार कर थाने लाई थी। पुलिस का कहना है कि जब हर्षद को मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया था तब उसने ये आरोप जज के समक्ष क्यों नहीं कहे।

फ़िलहाल मारपीट के आरोप में हर्षद को 29 दिसंबर को कोर्ट से जमानत मिल गई। पुलिस इंस्पेक्टर ओएम देसाई ने बताया कि हर्षद की शिकायत पर एक सिपाही पर एफआईआर दर्ज कर ली गई है।

पुलिस के अनुसार इस मामले में आगे की जांच पूरी होने के बाद ही कोई अंतिम निर्णय लिया जा सकेगा। फिलहाल हर्षद की शिकायत दर्ज कर ली गयी है। आरोपी पीड़ित को कोर्ट से 29 दिसंबर को ज़मानत पर रिहा कर दिया गया था।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें