पुलवामा हमला: सर्वदलीय बैठक छोड़ रैली संबोधित करने चले गए थे मोदी- पवार

नई दिल्ली। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी सुप्रीमो शरद पवार ने पुलवामा हमले के बाद बुलाई गयी सर्वदलीय बैठक में पीएम नरेंद्र मोदी की गैर मौजूदगी को लेकर सवाल उठाये हैं।

शरद पवार ने कहा कि पुलवामा हमले के बाद एक सर्वदलीय बैठक बुलाई गयी थी। सभी राजनैतिक दलों से कहा गया था कि पुलवामा हमले को लेकर बुलाई गयी सर्वदलीय बैठक की अध्यक्षता पीएम नरेंद्र मोदी करेंगे।

पवार ने कहा कि सर्वदलीय बैठक में पीएम नरेंद्र मोदी शामिल नहीं हुए बल्कि वे रैली को संबोधित करने चले गए। उन्होंने सवाल उठाया कि पुलवामा हमले जैसे गंभीर मुद्दे पर बैठक में शामिल होने के बजाए नरेंद्र मोदी ने रैली को संबोधित करना चुना। वह (महाराष्ट्र के) धुले और यवतमाल में रैलियों को संबोधित कर रहे थे जहां उन्होंने हमारी आलोचना की।

आगामी लोकसभा चुनावों के लिए बीजेपी-शिवसेना के बीच हुए गठबंधन के बारे में बात करते हुए शरद पवार ने कहा कि यह तो होना ही था। उन्होंने कहा, ‘पिछले कुछ महीनों के दौरान दोनों पार्टियों के बीच तीखी जुबानी जंग और बयानबाजी देखने को मिली थी। अब वे एक साथ खड़े हैं और एकता का संदेश देना चाहते हैं। महाराष्ट्र की जनता उनकी रणनीति तो समझती है। ऐसे में प्रदेश के लोग सोचेंगे और बेहतर कदम उठाएंगे।’

मीडिया से बातचीत करते हुए शरद पवार ने कहा कि वे आगामी लोकसभा चुनाव महाराष्ट्र के सोलापुर की माढ़ा संसदीय सीट से लड़ सकते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि उनके भतीजे और परिवार के अन्य सदस्य इस बार चुनाव नहीं लड़ेंगे।

मंगलवार को पवार ने कहा, ‘अजीव पवार, पार्थ पवार और रोहित पवार लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे। मैं लोकसभा चुनाव लड़ूंगा।’ वशंवाद की राजनीति को बढ़ावा देने के सवाल के जवाब में उन्होंने यह बयान दिया। शरद पवार के भतीजे अजीत पवार मौजूदा समय में महाराष्ट्र विधानसभा के सदस्य हैं।

गौरतलब है कि इससे पहले शरद पवार ने लोकसभा चुनाव न लड़ने की बात कही थी लेकिन पिछले दिनों लोकसभा चुनाव 2019 के लिए महाराष्ट्र के सीटों की समीक्षा के लिए शरद पवार ने अपनी पार्टी नेताओं की बैठक बुलाई थी। इस दौरान पवार ने कहा था कि सोलापुर के माढ़ा लोकसभा क्षेत्र के एनसीपी सांसद विजय सिंह मोहिते पाटिल ने उनसे चुनाव लड़ने का आग्रह किया है। इसके अलावा अन्य पदाधिकारियों की भी यही राय है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें