पुलवामा हमला: कांग्रेस ने स्थगित किया कार्यक्रम लेकिन देशभक्त पार्टी के अध्यक्ष करते रहे रैली

नई दिल्ली। कल जम्मू कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकी हमले में 41 जवान शहीद हो गए थे। इस घटना की खबर फैलते ही जहाँ देश में शोक की लहर दौड़ गयी वहीँ खुद को सबसे बड़ा देशभक्त बताने वाली पार्टी के तीन नेता अलग अलग जगह कार्यक्रम करते दिखे।

पुलवामा की घटना की जानकारी मिलने के बाद जहाँ कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश में अपना एक अहम राजनैतिक कार्यक्रम स्थगित कर दिया वहीँ बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कर्नाटक में चुनावी सभा को सम्बोधित किया। केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने तमिलनाडु में एआईएडीएमके नेताओं के साथ लोकसभा चुनाव के लिए गठबंधन को लेकर बैठक में भाग लिया तो दूसरी तरफ बीजेपी सांसद मनोज तिवारी प्रयागराज में संगीत के एक कार्यक्रम में स्टेज पर गाना बजाना करते रहे।

इससे पहले जब पुलवामा से हमले की खबर आयी तो लखनऊ में कांग्रेस ने अपना राजनैतिक कार्यक्रम स्थगित कर दिया। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा कि पुलवामा में सीआरपीएफ जवानो के काफिले पर हुए आतंकी हमले के बाद हम कोई राजनैतिक चर्चा का आयोजन अनुचित समझते हैं।

उन्होंने कार्यक्रम स्थल पर ही दो मिनट का मौन रखकर शहीद जवानो को श्रद्धांजलि दी और कहा कि शहीद जवानो के परिवारों के प्रति पूरी हमदर्दी जताते हुए कहा कि दुःख की इस घड़ी में पूरा देश उनके साथ है।

सोशल मीडिया पर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल और बीजेपी सांसद मनोज तिवारी की इस बात के लिए कड़ी आलोचना हो रही है कि पुलवामा में आतंकी हमले में बड़ी तादाद में जवानो के शहीद होने की जानकारी मिलने के बाद भी उक्त नेताओं ने अपने कार्यक्रमों को स्थगित नहीं किया।

ट्विटर पर यूजर्स ने कड़ी आलोचना करते हुए अलग अलग प्रतिक्रियाएं दी हैं। कुछ यूजर्स ने कहा कि इनके लिए शहीदों से ज़्यादा ज़रूरी चुनाव और राजनीति हैं। वहीँ सोशल मीडिया पर तमाम आलोचनाओं के बाद बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के आज सभी राजनैतिक कार्यक्रम स्थगित कर दिए गए हैं।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें
loading...