पीवी सिंधु ने रचा इतिहास, वर्ल्ड चैंपियनशिप में गोल्ड जीतने वाली पहली भारतीय बनी

नई दिल्ली। बैडमिंटन खिलाडी पीवी सिंधु ने आज देश के इतिहास में एक नया अध्याय उस समय जोड़ा जब स्विट्जरलैंड के बसेल में रविवार को खेले गए फाइनल मुकाबले में सिंधु ने अपनी चिर प्रतिद्वंद्वी जापान की नोजोमी ओकुहारा को सीधे सेटों में 21-7, 21-7 से हराया।

24 वर्षीय सिंधु वर्ल्ड बैडमिंटन चैंपियनशिप में गोल्ड जीतने वाली पहली भारतीय खिलाड़ी बन गई हैं। वे लगातार तीसरी बार वर्ल्ड चैंपियनशिप का फाइनल खेल रही थीं। उन्हें पिछले दोनों बार के फाइनल में रजत पदक से संतोष करना पड़ा था।

इससे पहले पीवी सिंधु ने वर्ष 2013 और 2014 में कांस्य पदक और 2017 और 2018 में रजत पदक जीता था। लेकिन वो पिछले दो बार से वह फाइनल में पहुँचने के बाद स्वर्ण पदक से चूक जा रही थीं।

आज फाइनल मैच में जीत दर्ज करने के साथ ही सिंधु ने वर्ल्ड चैंपियनशिप का अपना पांचवां मेडल भी जीता। फाइनल में पहुँचने के लिए सिंधु ने सेमीफाइनल में चीन की चेन यू फेई को 21-7, 21-14 से हराया। इससे पहले क्वार्टरफाइनल में दूसरी सीड ताइपे की ताई जू यिंग को हराया था।

बैडमिंटन वर्ल्ड चैम्पियनशिप में फ़ाइनल मुकाबला जीतने पर पीवी सिंधु को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने ट्वीट कर बधाई दी है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें