पीएम मोदी पर बरसे तोगड़िया, कहा ‘राममंदिर के नाम पर हिन्दुओं से धोखा किया’

एटा। पूर्व विहिप नेता अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष डा. प्रवीण तोगड़िया ने राम मंदिर के मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर बड़ा हमला बोला है। तोगड़िया ने कहा कि सत्ता में बैठते ही नरेंद्र मोदी अपने वादे भूल गए हैं।

शुक्रवार को एटा में प्रवीण तोगड़िया ने कहा कि मोदी जी को हिन्दुओं ने राम मंदिर का कानून बनाने भेजा था, मगर ट्रिपल तलाक का कानून बना दिया। हम देश की हिंदू जनता से विश्वासघात नहीं कर सकते।

तोगड़िया ने पत्रकारों से बात करते हुए संघ प्रमुख मोहन भागवत को भी निशाने पर लिया। तोगड़िया ने कहा कि वर्ष 1984 में राम मंदिर आंदोलन शुरू हुआ तब कोर्ट क्यों याद नहीं आया? चार साल पहले कहते थे कि पूर्ण बहुमत की सरकार लाओ राम मंदिर बनाएंगे। किसानों और युवाओं को रोजगार देने का वादा भूल गए। नरेंद्र मोदी ने भाजपा के कार्यकर्ताओं, विचारधारा को छोड़ दिया। राम को भी छोड़ दिया।

उन्होंने कहा कि 2019 का नारा होगा ‘अबकी बार हिंदुओं की सरकार”। किसानों की सरकार और युवा रोजगार दिलाने की सरकार’। आरएसएस प्रमुख के बयान पर उन्होंने कहा कि वे सत्ता के साथ विचारधारा बदल रहे हैं। हिंदुओ के बिना देश में कुछ भी नहीं है।

प्रवीण तोगड़िया ने कहा कि नरेंद्र मोदी को अयोध्या के राम मंदिर निर्माण के लिए भेजा था, लेकिन वे इंदौर जाकर मस्जिद में बैठ गए। उन्होंने कहा कि चार साल में मैंने आरएसएस से लेकर हर नेता से संसद में राम मंदिर को कानून बनाने की विनती की तो मुझ पर दबाव बनाया गया।

उन्होंने कहा मैं जीवन छोड़ सकता हूं, राम को नहीं छोड़ सकता। हिंदू जनता से विश्वासघात नहीं कर सकता। हम 20 करोड़ लोगों से हिंदू मांग पत्र पर हस्ताक्षर ले रहे हैं और 21 अक्तूबर को लखनऊ से अयोध्या कूच करेंगे।

तोगड़िया बोले कि हमारी मांग है कि वादा का पालन करो या सत्ता छोड़ो? संसद में कानून बनाकर मंदिर बनाओ। हम राम मंदिर और राम राज्य की बात कर रहे हैं। यह आरएसएस और भाजपा के कार्यकर्ताओं के मन की बात है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें