पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र में रैली करेंगे राजस्थान के बेरोज़गार, जनता को बताएंगे हकीकत

नई दिल्ली। राजस्थान में बढ़ती बेरोज़गारी को लेकर जहाँ एक तरफ राज्य की वसुंधरा सरकार पर चुनावो में पराजय का खतरा मड़रा रहा है वहीँ अब बेरोज़गार नर्सिंग स्टूडेंट्स ने तय किया है कि वे पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र में बड़ी रैली का आयोजन कर वहां की जनता को देश में बढ़ती बेरोज़गारो की तादाद से रूबरू कराएँगे।

अखिल भारतीय मेडिकल स्टूडेंट एसोसिएशन के राष्ट्रीय महासचिव भरत बेनीवाल ने मीडिया को बताया कि इस रैली के लिए केवल 5 हजार स्टूडेंट्स को शामिल किया जा रहा है, विश्वविद्यालय व शहर में जगह की कमी को देखते हुए छात्रों की संख्या अधिक नहीं रखी जाएगी। इस रैली के लिए राजस्थान से भी करीब 800 छात्र-छात्राएं बनारस पहुंच रहे हैं।

महासचिव भरत बेनीवाल ने बताया कि राजस्थान सरकार द्वारा उनकी मांगे नहीं माने जाने के कारण यह रैली की जा रही है। उन्होंने बताया कि राज्य में नर्सिंग स्टूडेंट्स की मांगों को लेकर पहले ही तीन बड़ी रैलियां की जा चुकी हैं, लेकिन सरकार ने अब तक इस पर सुनवाई नहीं की है। उन्होंने बताया कि इस रैली के बाद भी यदि उनकी मांगों को लेकर राज्य या केंद्र सरकार द्वारा सुनवाई नहीं की गई, तो फिर दिल्ली में संसद भवन के बाहर मार्च किया जाएगा।

राजस्थान स्वास्थ्य एवं विज्ञान विश्वविद्यालय के छात्रसंघ अध्यक्ष बेनीवाल ने बताया कि रैली रविवार दोपहर 12 बजे से बनारस हिंदू विवि परिसर में स्थित नर्सिंग कॉलेज से शुरू होकर विवि के मुख्य द्वार तक जाएगी। उसके बाद यह रैली कलेक्ट्रेट ऑफिस तक जाएगी, जहां पर कलेक्टर को पीएम नरेंद्र मोदी के नाम अपनी मांगों को लेकर ज्ञापन दिया जाएगा।

इससे पहले अखिल भारतीय मेडिकल स्टूडेंट एसोसिएशन के बैनर तले अपनी मांगों को लेकर जयपुर में इसी साल 20 अप्रैल, एक मई और 19 जून को बाइस गौदाम पुलिया से विधानसभा तक रैलियां की जा चुकी हैं। पुलिस के मुताबिक, इन रैलियों में करीब 10 से 12 हजार नर्सों ने भाग लिया था।

जानकारी के अनुसार, राजस्थान में आज करीब 3.5 लाख नर्सें बेरोजगार हैं। इस साल करीब 1 लाख नर्सें और इसमें जुड़ जाएंगी। खास बात ये है कि साल 2010 के बाद कभी लिखित परीक्षा से भर्ती हुई ही नहीं, जिसके चलते एक भी नए नर्सिंग छात्रों को सरकारी नौकरी में जाने का अवसर प्राप्त नहीं हुआ।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें