पीएम की रैली के बाद गाज़ीपुर में हिंसा, एक सिपाही की मौत

नई दिल्ली। गाजीपुर में आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कार्यक्रम सम्पन्न होने के बाद भड़की हिंसा में एक पुलिसकर्मी की मौत हो गयी तथा अन्य कई के घायल होने की खबर है।

न्यूज़ एजेंसी एएनआई के मुताबिक गाज़ीपुर में पीएम नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम के बाद कठवा मोड़ पर निषाद समाज के लोगों ने जमकर हंगामा किया तथा सड़क पर जाम लगाकर कई वाहनों में तोड़फोड़ और आगजनी की।

निषाद समाज पार्टी के कार्यकर्ताओं ने आरक्षण की मांग को लेकर गाजीपुर जिले में विभिन्न स्थानों पर धरना प्रदर्शन किया। इस दौरान पुलिस ने इन्हें हटाने का प्रयास किया, लेकिन इसी बीच किसी माध्यम से अफवाह फैली कि पुलिस ने पार्टी के कुछ लोगों को हिरासत में लिया है। इस पर भीड़ उग्र हो गई और चक्का जाम कर पथराव शुरू कर दिया।

पथराव की घटना में करीमुद्दीन थाने में तैनात हेड कांस्टेबल सुरेंद्र वत्स घायल हो गए और अस्पताल ले जाते समय उनकी मौत हो गई। इस दौरान कई अन्य लोगों के भी घायल होने की खबर है।

इस घटना के संदर्भ में गाज़ीपुर के जिलाधिकारी का कहना है कि कुछ लोगों को हिरासत में लिया गया है। इसके अलावा आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए टीमें गठित की गई हैं।

वहीँ घटना की जानकारी मिलने के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पुलिस कान्सटेबल सुरेश वत्स की मृत्यु पर गहरा शोक व्यक्त किया है। उन्होंने शोक संतप्त परिजनों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करते हुए दिवंगत पुलिस कान्सटेबल की पत्नी को 40 लाख रुपए और उनके माता-पिता को 10 लाख रुपए की आर्थिक सहायता दिए जाने की घोषणा की है।

उन्होंने दिवंगत पुलिस कर्मी की पत्नी को असाधारण पेंशन और परिवार के एक सदस्य को मृतक आश्रित के तौर पर सरकारी नौकरी देने की घोषणा भी की है। पुलिस के मुताबिक फिलहाल इलाके में भारी तादाद में पुलिसबल तैनात किया गया है और उग्र प्रदर्शन में शामिल लोगों की पहचान की जा रही है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें