पीएनबी स्कैम पर शिवसेना ने पीएम को घेरा: कहा ‘नीरव मोदी बीजेपी का साझीदार”

मुंबई। हज़ारो करोड़ रुपये के पीएनबी स्कैम को लेकर शिवसेना ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी को सीधे तौर पर घेरते हुए कहा कि नीरव मोदी बीजेपी का साझीदाररहा था, उसने चुनावों के लिए धन जुटाने में पार्टी की मदद की थी।

पार्टी ने कहा कि ‘‘न खाऊंगा न खाने दूंगा’’ के नारे के जरिए देश में भ्रष्टाचार को खत्म करने की प्रधानमंत्री की घोषणा असफल हो गई है। शिवसेना ने कहा कि घोटाला उजागर होने के बाद नीरव मोदी और उसके रिश्तेदार मेहुल चोकसी से जुड़ी संपत्तियां निगरानी के दायरे में आ गई हैं।

पार्टी के मुखपत्र ‘सामना’ में प्रकाशित एक संपादकीय में कहा गया, ‘‘यह प्रकाश में आया है कि नीरव मोदी जनवरी में ही देश से भाग गया था। हालांकि कुछ सप्ताह पहले ही वह (विश्व आर्थिक फोरम के दौरान) दावोस में प्रधानमंत्री के साथ देखा गया था।’’

संपादकीय में कहा गया, ‘‘नीरव मोदी भाजपा का सहयोगी रहा है और चुनाव के लिए धन एकत्र करने में भाजपा की मदद करने में वह अग्रिम मोर्चे पर था।’’ शिवसेना ने आरोप लगाया कि ऐसे कई नीरव मोदी थे जो भाजपा को चुनावों में जीत दिलाने और उसका खजाना भरने में उसकी मदद कर रहे थे।

शिवसेना ने सवाल उठाया कि “नीरव भाई के खिलाफ प्राथमिकी पहले ही दर्ज की जा चुकी थी, तब वह दावोस जाने और उद्योगपतियों के साथ प्रधानमंत्री मोदी से मिलने में कैसे सफल हो गया?”शिवसेना ने कहा कि प्रवर्तन निदेशालय केवल तब हरकत में आया और नीरव मोदी की संपत्तियों को तब सील किया जब वह देश छोड़ चुका था।

गौरतलब है कि शिवसेना अपने मुखपत्र सामना में सम्पादकीय के माध्यम से मोदी सरकार और बीजेपी का नीतिगत विरोध करती रही है। बीजेपी की सहयोगी होने के बावजूद शिवसेना ने नोट बंदी जैसे अहम मुद्दों पर बीजेपी की आलोचना करती रही है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *