पीएनबी के बाद सामने आया ओरिएंटल बैंक का ये बड़ा घोटाला

नई दिल्ली। पीएनबी के 11 हजार करोड़ रुपये के घोटाले के बाद ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (ओबीसी) को कथित तौर पर 390 करोड़ रुपये का चूना लगाने का मामला सामने आया है।

पीएनबी को चूना लगाने वाले नीरव मोदी और मेहुल चोकसी की तरह ठगने वाली एक और निर्यात करने वाली हीरा कारोबारी कंपनी ही है। सीबीआई ने दिल्ली के करोल बाग स्थित ज्वैलर्स द्वारका दास सेठ इंटरनेशनल के मालिक और तीन अन्य के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

करोलबाग स्थित यह कंपनी डायमंड, गोल्ड और सिल्वर ज्वैलरी की मैन्युफैक्चरिंग और ट्रेडिंग का काम करती है। कंपनी ने ओबीसी की ग्रेटर कैलाश पार्ट-दो स्थित ब्रांच से 2007 से 2012 के बीच लेटर ऑफ अंडरस्टेडिंग (एसओयू) बनवाकर कई तरह के लोन हासिल किये।

कंपनी के संचालक और दस निदेशकों की शिकायत बैंक ने अगस्त 2017 को सीबीआई से की थी। इससे पहले बैंक ने जांच में पाया था कि कंपनी के संचालक सभ्य सेठ और रीता सेठ अपने निदेशकों के साथ मिलकर बैंक की ओर से मिले लेटर ऑफ अंडरस्टेडिंग का इस्तेमाल कर कई लोन हासिल किये और उन्हें नहीं चुकाया।

जांच के दौरान कंपनी के संचालक और सभी दस निदेशक पिछले करीब दस महीने से अपने निवास पर नहीं मिल रहे हैं। बैंक को आशंका है कि यह सभी नीरव मोदी और विजय माल्या की तरह देश छोड़कर भाग गये हैं। सीबीआई सूत्रों के मुताबिक, इस कंपनी के निदेशक दुबई में हैं।

सीबीआई ने मामला द्वारका दास सेठ इंटरनेशनल प्राइवेट लिमिटेड नाम की कंपनी के निदेशकों सभ्य सेठ, रीता सेठ, कृष्ण कुमार सिंह, रवि सिंह के खिलाफ दर्ज किया है। सीबीआई इस पूरे मामले पर नजर बनाए हुए है तथा ज्वैलर्स और कंपनी से जुड़े सभी दस्तावेज जुटाने में भी जुटी हुई है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *