पहलाज निहलानी बोले “इंदु सरकार को बिना कट पास कराने के लिए स्मृति ईरानी ने डाला था दबाव’

नई दिल्ली। केंद्रीय फिल्म सेंसर बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष ने पहलाज निहलानी ने स्वीकार किया है कि उनके ऊपर समय समय पर सरकार की तरफ से दबाव बनाया गया था। एक यूट्यूब चैनल को दिये एक साक्षात्कार में फिल्म ‘इंदु सरकार’, ‘उड़ता पंजाब’ और ‘बजरंगी भाईजान’ पर उठे विवाद पर विस्तार से चर्चा की।

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे इस इंटरव्यू में पहलाज निहलानी ने खुद को पद से हटाये जाने के लिए केंद्रीय मंत्री स्‍मृति ईरानी को ज़िम्मेदार बताया है।  इंटरव्यू में पहलाज ने कहा, स्मृति ईरानी चाहती थीं कि इंदु सरकार को बिना किसी कट्स के पास किया जाये। इस फिल्म को मिले कट्स से वे नाराज थीं।

पहलाज के मुताबिक, मैंने सेंसर बोर्ड के नियमानुसार काम किया और इस फिल्म को रिवाइजिंग कमेटी में भेज दिया। ‘इंदु सरकार’ को एपीलेट ट्रिब्यूनल से पास किया गया, लेकिन इस फिल्म को लेकर स्मृति ईरानी मुझे हटाने का फैसला कर चुकी थीं।

इतना ही नहीं पहलाज निहलानी ने कहा कि 2016 में पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले ‘उड़ता पंजाब’ फिल्‍म को लेकर भी उनपर सरकार की तरफ से दबाव बनाया गया कि मैं उसे पास ना करूं। क्योंकि फिल्म पंजाब में चल रहे ड्रग्स रैकेट पर बनी थी।

उन्होंने कहा कि पंजाब में चुनाव सिर पर थे और वहां बीजेपी-अकाली के गठबंधन वाली सरकार थी। मौजूदा सरकार में बैठे लोगों को लगा कि अगर यह फिल्म रिलीज हुई, तो वहां होने वाले चुनावों पर इसका असर पड़ सकता है।

एक और बड़ा खुलासा करते हुए पहलाज ने कहा कि केंद्र सरकार की ओर से सलमान खान की फिल्म ‘बजरंगी भाईजान’ को लेकर भी उन पर दबाव था कि फिल्म को ईद पर रिलीज होने से रोका जाये।

पहलाज ने कहा है कि उन्हें केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से बताया गया कि ईद के मौके पर इस फिल्म के टाइटल से कानून व्यवस्था की समस्या हो सकती है। पहलाज का कहना है कि उन्होंने फिल्म देखकर गृह मंत्रालय को आश्वस्त किया कि फिल्म से कोई समस्या नहीं होगी।

 

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *