पश्चिम बंगाल: वाम मोर्चा-कांग्रेस गठबंधन को सोनिया गांधी की मंजूरी

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल में विधानसभा उपचुनाव के लिए कांग्रेस ने एक बार फिर वाम दलों के साथ गठबंधन किया है। कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने वाम मोर्चा और कांग्रेस के बीच गठबंधन को अपनी मंजूरी दे दी है।

कांग्रेस सूत्रों के मुताबिक शुक्रवार शाम को कांग्रेस अध्यक्ष और पश्चिम बंगाल कांग्रेस के अध्यक्ष सोमेन मित्रा के बीच हुई बैठक में पश्चिम बंगाल में कांग्रेस की स्थति और राज्य में आगामी विधानसभा उपचुनावों समेत विभिन्न सांगठनिक विषयों पर चर्चा हुई।

इतना ही नहीं लोकसभा चुनाव में पश्चिम बंगाल में कांग्रेस के ख़राब प्रदर्शन को लेकर भी दोनों नेताओं के बीच बातचीत हुई। सूत्रों ने कहा कि सोनिया गांधी ने स्पष्ट तौर पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सोमेन मित्रा से राज्य में संगठन मजबूत करने पर विशेष ध्यान केंद्रित करने को कहा।

बैठक के बाद सोमेन मित्रा ने कहा, ‘हमने सोनिया जी को राज्य में आगामी उपचुनाव के लिए वाम मोर्चा की सीट बंटवारे पर सहमति के बारे में जानकारी दी। उन्होंने हमसे कहा कि अगर वाम मोर्चा तैयार है तो दोनों पार्टियों को राज्य में गठजोड़ बनाना चाहिए।’

उन्होंने कहा कि राज्य में उपचुनाव में वाम मोर्चे के साथ गठबंधन का प्रस्ताव राज्य इकाई ने कांग्रेस अध्यक्ष को भेजा था लेकिन कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के इस्तीफे के बाद अध्यक्ष पद रिक्त होने के कारण इस मामले में फैसला नहीं लिया जा सका था।

गौरतलब है कि 2019 के लोकसभा चुनाव में पश्चिम बंगाल में कांग्रेस का प्रदर्शन निराशाजनक रहा है। 2014 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस ने पश्चिम बंगाल में 04 सीटें जीती थीं जबकि 2019 में उसे दो सीटों का नुकसान उठाना पड़ा और वह केवल दो सीटें ही जीत सकी।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें