दुनिया बड़ी खबर

पवित्र क़ुरान से आरंभ हुआ न्यूज़ीलैंड संसद का नया सत्र, रेडियो-टीवी पर ब्रॉडकास्ट होगी अज़ान

नई दिल्ली।न्यूज़ीलैंड की संसद ने क्राइस्टचर्च की मस्जिदों में हुए आतंकी हमले और उसमे शहीद होने वाले नमाज़ियों को बिल्कुल अलग ही अंदाज़ में श्रद्धांजिल दी है। जहां न्यूज़ीलैंड की संसद ने अपने सत्र की शुरुआत पवित्र क़ुरआन की तिलावत से की वहीं इस देश की प्रधानमंत्री ने अपने भाषण का आरंभ अस्सलामो अलैकुम से किया।

न्यूज़ीलैंड की प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न ने संसद सत्र के आरंभ में क़ुरआन की तिलावत के बाद देश की संसद को संबोधित करते हुए सबसे पहले सलाम किया और कहा कि क्राइस्टचर्च की मस्जिदों पर हमला करने वाले आतंकियों के ख़िलाफ़ क़ानून के तहत बहुत ही जल्द और बहुत ही सख़्त कार्यवाही होगी।

उन्होंने कहा कि मस्जिद पर हमला करने वाले आतंकी, अपराधी और चरमपंथी हैं। न्यूज़ीलैंड की प्रधानमंत्री ने कहा कि हम इस प्रयास में हैं कि इस आतंकी हमले की तह तक जाएं और ऐसी विचारधारा को अपने देश से जड़ से समाप्त करें। उन्होंने कहा आतंकियों के ख़िलाफ़ होने वाली कार्यवाही तक देश हाई अलर्ट पर है।

इतना ही नहीं न्यूज़ीलैंड की प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न ने आज बुधवार को ऐलान किया है कि जुमे के रोज़ नेशनल टीवी और रेडियो पर अज़ान ब्रॉडकास्ट की जाएगी तो दूसरी तरफ न्यूज़ीलैंड महिला आयोग नेजुमें के रोज़ हिजाब केसाथ शहीदों को श्रद्धांजलि और मुस्लिम समाज के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलने की बात कही है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें