पटना: राबड़ी देवी के आवास पर सीबीआई छापे

पटना। आईआरसीटीसी घोटाले में सीबीआइ ने बिहार की पूर्व मुख्‍यमंत्री राबड़ी देवी के पटना स्थित आवास पर छापेमारी की है। इतना ही नहीं राबड़ी के बेटे और बिहार के पूर्व उपमुख्‍यमंत्री तेजस्‍वी यादव से तकरीबन चार घंटे तक पूछताछ भी की गई है।

जांच एजेंसी ने यह कार्रवई आईआरसीटीसी द्वारा होटलों के रखरखाव को लेकर दिए गए टेंडर में अनियमितता को लेकर की गई है। लालू यादव के रेल मंत्री रहते हुए टेंडर घोटाला होने का आरोप है। इस मामले में जांच एजेंसी लालू यादव, राबड़ी देवी और तेजस्‍वी यादव से कई बार पूछताछ कर चुकी है।

पिछले साल लालू यादव से इस मामले में तकरीबन सात घंटे तक पूछताछ की गई थी। राबड़ी देवी इससे लगातार बचती रही थीं। उन्‍हें कई बार समन भेजा गया था, लेकिन वह जांच अधिकारियों के समक्ष पेश नहीं हुई थीं। सीबीआई के अलावा प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) भी मामले की जांच कर रहा है।

बता दें कि लालू इन दिनों दिल्‍ली स्थित एम्‍स में बतौर कैदी इलाज करा रहे हैं। वह चारा घोटाला से जुड़े मामले में सजा काट रहे हैं। सीबीआई की यह कार्रवाई ऐसे समय हुई है, जब राबड़ी परिवार सहित बेटे तेज प्रताप की सगाई और शादी की तैयारियों में जुटी हैं। लालू-राबड़ी के बड़े बेटे और बिहार के पूर्व स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री तेज प्रताप यादव की शादी राजद विधायक चंद्रिका राय की बेटी से तय हुई है।

क्‍या है मामला:

सीबीआई द्वारा पिछले साल जुलाई में दर्ज एफआईआर के मुताबिक, रांची और पुरी में स्थित बीएनआर होटलों के विकास, रखरखाव और उसे चलाने के लिए दिए गए टेंडर में अनियमितता की गई थी। लालू यादव वर्ष 2004 से 2009 के बीच रेल मंत्री थे और ये ठेका भी उसी वक्‍त दिया गया था।

जांच एजेंसियों ने सुजाता होटल्‍स के निदेशकों विजय और विनय कोचर, डिलाइट मार्केटिंग कंपनी और आईआरसीटीसी के तत्‍कालीन निदेशक पीके. गोयल को भी आरोपी बनाया है।

सीबीआई का आरोप है आईआरसीटीसी के दो होटलों के रखरखाव का टेंडर देने के एवज में लालू यादव को बेनामी कंपनी की ओर से घूस के तौर पर पटना के प्राइम लोकेशन पर जमीन दी गई थी। इस कंपनी का स्‍वामित्‍व सरला गुप्‍ता के पास था।

बता दें कि रांची और पुरी के होटलों की जिम्‍मेदारी सुजाता होटल्‍स को दी गई थी। दूसरी तरफ, ईडी ने मनीलांड्रिंग के मामले में लालू परिवार के खिलाफ केस दर्ज किया है। बता दे कि लालू यादव और उनका परिवार लगातार अनियमितता के आरोपों को शुरुआत से ही खारिज करता रहा है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *