न्यू इंडिया के बड़े दावों के बीच उत्तर प्रदेश में भूख से महिला की मौत

लखनऊ। जहाँ भारत को न्यू इंडिया बनाने के दावे किये जा रहे हैं वहीँ इसके पलट उत्तर प्रदेश में एक महिला की भूख से मौत होने का मामला प्रकाश में आया है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार मामला बरेली है जहाँ महिला के पति को उसकी पत्नी के फिंगर प्रिंट न मिलने पर राशन विक्रेता ने राशन देने से इंकार कर दिया।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार पति कई दिनों से राशन की दुकान के चक्कर लगा रहा था लेकिन हर बार उसे यही कहा जाता रहा कि पत्नी को राशन की दुकान पर लाओ और बायोमीट्रिक मीशन में उनकी अंगुली लगवाओ। वहीँ महिला बीमार थी और वह इस स्थति में नई थी कि वह चलकर राशन की दुकान तक पहुँच सके।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार महिला का नाम सकीना बताया गया है। वह गंभीर रूप से बीमार चल रही थी। उसके पति ने राशन विक्रेता से राशन देने की गुहार की लेकिन राशन विक्रेता ने महिला के फिंगर प्रिंट के बिना राशन देने से इंकार कर दिया। जिसके चलते इस परिवार के यहाँ भोजन बनना बंद हो गया और तीन दीं बाद महिला की मौत जो गयी। यह दम्पति नगर पंचायत फतेहगंज पश्चिमी के वार्ड 15 के मोहल्ला भोले नगर में रहता था।

मृतक महिला के पति इशहाक अहमद का आरोप है कि उनकी पत्नी बीमारी की वजह से राशन की दुकान तक जाने की हालत में नहीं थी। पछली बार किसी तरह से लेकर गए थे, लेकिन इस बार वह उठ भी नहीं सकती थी। जिसके बाद उसने राशन दुकान मालिक से स्थितियां बताई बावजूद इसके दुकान मालिक ने राशन देने से इनकार कर दिया।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार भूख से महिला की मौत का मामला सामने आते ही जिले के अफसरों में हड़कंप मच गया। एसडीएम राम अक्षय ने बताया कि परिवार बहुत गरीब है, पीड़ित के पास अंत्योदय कार्ड भी है। उन्होंने कहा कि हम घटना का विस्तार से जांच करा रहे हैं।

 

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें