नोट बंदी के दो वर्ष: आज देशभर में कांग्रेस का प्रदर्शन

नई दिल्ली। मोदी सरकार द्वारा 8 नवंबर 2016 को देशभर में लागू की गयी पांच सौ और एक हज़ार रुपये की नोट बंदी की दूसरी बरसी पर आज कांग्रेस देशभर में प्रदर्शन करेगी।

दिल्ली में कांग्रेस रिज़र्व बैंक मुख्यालय का घेराव और प्रदर्शन करेगी। इसमें कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेता भाग लेंगे। वहीँ कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी आज छत्तीसगढ़ में हैं। वे छत्तीसगढ़ में कई चुनावी सभाओं को सम्बोधित करेंगे।

इससे पहले कल (गुरुवार को) कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर लिखा, ”भारत के इतिहास में 8 नवंबर की तारीख को हमेशा कलंक के तौर पर देखा जाएगा। 2 साल पहले आज के दिन प्रधानमंत्री मोदी ने देश पर नोटबंदी का कहर बरपाया. उनकी एक घोषणा से भारत की 86 फीसदी मुद्रा चलन से बाहर हो गई जिससे हमारी अर्थव्यवस्था थम गई।”

पूर्व प्रधानमंत्री डा मनमोहन सिंह ने नोट बंदी को मोदी सरकार की बीमार सोच वाला एक मनहूस कदम करार दिया। उन्होंने मोदी सरकार द्वारा उठाए गए नोटबंदी के कदम को दुर्भाग्‍यपूर्ण बताते हुए कहा कि इस कदम से भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था और समाज में जो बर्बादी हुई, उसके सबूत आज सभी के सामने हैं।

सिंह ने एक बयान में यह भी कहा कि मोदी सरकार को अब ऐसा कोई आर्थिक कदम नहीं उठाना चाहिए जिससे अर्थव्यवस्था के संदर्भ में अनिश्चितता की स्थिति पैदा हो। उन्होंने कहा, ‘नरेंद्र मोदी सरकार ने 2016 में त्रुटिपूर्ण ढंग से और सही तरीके से विचार किए बिना नोटबंदी का कदम उठाया था। आज उसके दो साल पूरे हो गए।

मनमोहन सिंह ने कहा, ‘नोटबंदी से भारतीय अर्थव्यवस्था पर जो कहर बरपा, वह अब सबके सामने है। नोटबंदी ने हर व्यक्ति को प्रभावित किया, चाहे वह किसी भी धर्म, जाति, पेशा या संप्रदाय का हो। अक्सर कहा जाता है कि वक्त सभी जख्मों को भर देता है लेकिन नोटबंदी के जख्म-दिन-ब दिन और गहराते जा रहे हैं।’

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें