नोटबंदी: शिवसेना ने कहा ‘पीएम मोदी के वादे के मुताबिक उन्हें सजा देने का इंतज़ार कर रहे लोग’

मुंबई। नोट बंदी के दो वर्ष पूरे होने पर जहाँ कांग्रेस सहित विपक्ष ने मोदी सरकार पर हमला बोला है वहीँ बीजेपी की सहयोगी भी इस मामले में पीछे नहीं रही और शिवसेना ने भी मोदी सरकार पर बड़ा हमला बोला।

शिवसेना ने कहा कि जनता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दो साल पहले नोटबंदी की घोषणा करने के लिए सजा देने का इंतजार कर रही है। पीटीआई के मुताबिक शिवसेना ने दावा किया कि नोटबंदी पूरी तरह असफल रही, क्योंकि इससे कोई भी लक्ष्य पूरा नहीं हुआ।

पार्टी की प्रवक्ता मनीषा कायंदे ने कहा कि वित्त मंत्री अरुण जेटली कहते हैं कि ज्यादा लोगों को टैक्स के दायरे में लाया गया लेकिन इसकी वजह से लाखों लोगों की नौकरियां भी चली गई। वह इसके पीछे का तर्क देने में विफल रहते हैं।

मनीषा कायंदे ने कहा कि ऐसा कहा गया था कि आतंकवाद का खात्मा होगा और नकली नोट की समस्या खत्म हो जाएगी, लेकिन यह भी नहीं हो सका। दो साल के बाद स्थिति इतनी खराब है कि लोग प्रधानमंत्री को सजा देने का इंतजार कर रहे हैं।

कायंदे ने दावा किया कि केंद्रीय वित्त मंत्री और आरबीआई गवर्नर के बीच अनबन से देश में आर्थिक स्थिति और बदहाल होगी। साथ ही विदेशी निवेशक यहां निवेश करने के प्रति चिंतित होंगे।

गौरतलब है कि मोदी सरकार द्वारा 8 नवंबर 2016 को देशभर में पांच सौ और एक हज़ार रुपये की नोट बंदी लागू की गयी थी। जिसके बाद एक महीने से अधिक समय तक देश में अफरातफरी का माहौल रहा। लोगों को बैंक से अपने ही पैसे निकालने में बड़ी मुश्किलो का सामना करना पड़ा।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें