नाराज़ किसानो ने विधानसभा, सीएम आवास के सामने फेंके आलू, 5 पुलिसकर्मियों पर गिरी गाज

लखनऊ। आलू की गिरती कीमतों से नाराज़ किसानो ने लखनऊ में विधानसभा, राजभवन और सीएम आवास के समक्ष आलू फेंक कर विरोध जताया था। इस मामले में 5 पुलिसकर्मियों पर सरकारी गाज गिरी है।

जानकारी के अनुसार रात के अँधेरे में किसानो से विरोधस्वरूप करीब 4 लोडर आलू उत्तर प्रदेश विधानसभा, राज्यपाल और सीएम योगी आदित्यनाथ के आवास के समक्ष सड़को पर फेंक दिये। जिसकी भनक प्रशासन को सुबह लगी तो आनन फानन में सड़क से आलू उठवाने का इंतजाम किया गया।

इस मामले को ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मियों की लापरवाही मानते हुए गौतमपल्ली थाने के एक सब इंस्पेक्टर और चार पुलिस कर्मियों को निलंबित कर दिया गया है। पुलिस के अनुसार आलू फेंकने वाले लोडर की भी पहचान कर ली गई है और उसके चालक पर भी मुकदमें की तैयारी की जा रही है।

लखनऊ के एसएसपी दीपक कुमार ने कहा कि आलू फेंकने वालों किसानों और वाहनों की पहचान हो गई हैं। उन्होंने कहा कि उचित धाराओं के तहत इन लोगों के खिलाफ केस दर्ज करके कार्रवाई की जाएगी।

बता दें कि उत्तर प्रदेश के आलू किसान आलू की खरीद मूल्य को लेकर योगी सरकार से नाराज़ हैं। किसान आलू का खरीद मूल्य बढ़ाने की मांग कर रहे हैं। वहीँ किसानो की नाराज़गी को भांपते हुए सीएम योगी ने मेरठ में कहा कि फिलहाल आलू 487 रुपये प्रति क्विंटल पर लिया जा रहा है, अभी इसकी कीमत बढ़ाई जाएगी।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें