नागालैंड में बीजेपी को सत्ता से दूर रखने के लिए कांग्रेस ने खेला ये दांव

नई दिल्ली। नागालैंड में होने जा रहे विधानसभा चुनावो में बीजेपी को सत्ता से रोकने के लिए कांग्रेस ने उन सीटों पर धर्मनिरपेक्ष उम्मीदवारों को अपना समर्थन देने का फैसला किया है जहाँ उसके उम्मीदवार नहीं हैं।

27 फरवरी को होने वाले 60 सदस्यीय विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने 19 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं। पहले कांग्रेस के 20 उम्मीदवारों ने पर्चा दाखिल किया था लेकिन उनमें से एक ने बाद में अपना नाम वापस ले लिया।

नगालैंड प्रदेश कांग्रेस समिति ने कहा कि इस फैसले का लक्ष्य भाजपा और उसके गठबंधन सहयोगियों को हमारे लोगों के अधिकारों को कमजोर करने और उनकी जीवन चर्या में बाधा डालने से रोकना है। इतना ही नहीं कांग्रेस ने अपने कार्यकर्ताओं से यह भी कहा है कि लोगों के अधिकारों की रक्षा के लिए वे धर्मनिरपेक्ष दलों के प्रत्याशियों का समर्थन करें।

गौरतलब है कि पूर्वोत्तर राज्यों में सत्ता हासिल करने के लिए भारतीय जनता पार्टी ने अपनी पूरी ताकत झौंक दी है। भाजपा ने राज्य में नेशनलिस्ट डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी (एनडीपीपी) के साथ गठबंधन किया है।

गठबंधन का नेतृत्व तीन बार मुख्यमंत्री रह चुके और वर्तमान सांसद नीफियू रियो कर रहे हैं। भाजपा प्रदेश में 20 जबकि एनडीपीपी 40 सीटों पर चुनाव लड़ेगी । वहीँ कांग्रेस ने 19 सीटों पर अपने उम्मीदवार खड़े किये हैं शेष रही सीटों पर उसने धर्मनिरपेक्ष उम्मीदवारों को समर्थन देने का एलान किया है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें