नसीरुद्दीन शाह के ताज़ा वीडियो से मची हलचल: जहाँ कभी कानून था वहां अब अँधेरा

मुंबई। असुरक्षा की भावना को लेकर फिल्म अभिनेता नसीरुद्दीन शाह के बयान पर अभी मामला थमा भी नही था कि उनका एक और वीडियो सामने आया है।

ह्यूमन राइट्स के लिए काम करने वाली संस्था ऐमनेस्टी इंटरनेशनल के वीडियो नसीरुद्दीन शाह कह रहे हैं कि “भारत में धर्म के नाम पर नफरत की दिवार खड़ी की जा रही है. यह वीडियो उर्दू भाषा में तैयार किया गया है।”

लगभग 2.13 मिनट के इस वीडियो में शाह ने एक बार फिर खुलकर अपनी बात रखी है। नसीरुद्दीन शाह ने कहा, अपने अधिकारों के लिए जो लोग अपनी आवाज तेज कर रहे हैं उन्हें बंद कर दिया जा रहा।

उन्होंने कहा, ‘कलाकारों, अभिनेताओं, स्कॉलर्स और कवियों को दबाने की कोशिश की जा रही है। यहां तक की पत्रकारों को भी शांत किया जा रहा है। धर्म के नाम पर नफरत की दिवार बना दी गयी है। निर्दोष लोगों को मारा जा रहा है. देश नफरत और क्रूरता का माहौल बन गया है।

नसीरुद्दीन शाह ने कहा, जितने लोग न्याय के खिलाफ खड़े हुए हैं उनके दफ्तरों में छापेमारी की जाती है, उनके लाइसेंस रद्द कर दिये जाते है। यहाँ तक कि बैंक अकाउंट भी सीज किया जाता है। ह सब करके उन्हें सच बोलने से रोकने की कोशिश की जा रही है।

नसीर ने इस वीडियो के जरिये सवाल किया है कि हमारा देश कहां जा रहा है, क्या हम देश उन देशों में शामिल होने जा रहे हैं जहां असहमति के लिए कोई स्थान नहीं है, जहां सिर्फ अमीर और ताकतवर लोगों को ही सुना जायेगा। जहां कभी कानून था वहां अब सिर्फ अंधेरा है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें

One Comment on “नसीरुद्दीन शाह के ताज़ा वीडियो से मची हलचल: जहाँ कभी कानून था वहां अब अँधेरा”

Comments are closed.