नवादा सीट एलजेपी के खाते में जाने से गिरिराज सिंह हुए पैदल

पटना ब्यूरो। केंद्रीय मंत्री और बीजेपी के फायर ब्रांड नेता गिरिराज सिंह जिस सीट से चुनाव लड़ते थे वह सीट गठबंधन में लोकजनशक्ति पार्टी के खाते में जाने के बाद गिरिराज सिंह के चुनाव लड़ने पर प्रश्न चिन्ह लग गया है।

लोकजनशक्ति पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष पशुपति पारस ने नवादा सीट अपने हिस्से में आने की जानकारी देते हुए कहा कि एलजेपी के पास 6 में से 5 पुरानी सीटें रहेंगी सिर्फ मुंगेर की जगह नवादा पर लोकजनशक्ति पार्टी चुनाव लड़ेगे।

अब सवाल उठ रहा है कि नवादा सीट से पत्ता कटने के बाद अब गिरिराज सिंह को बीजेपी बिहार की किसी सीट से उम्मीदवार बनाएगी अथवा नहीं। गौरतलब है कि गिरिराज सिंह ने मोदी सरकार के पूरे कार्यकाल में एक बार नहीं बल्कि कई बार विवादित बयान देकर सरकार की किरकिरी कराई थी।

जैसे कि पहले से कयास लगाए जा रहे थे कि बीजेपी अपने कुछ बड़बोले नेताओं के टिकिट काट सकती है। इसलिए माना जा रहा है कि इसी कवायद के तहत बीजेपी ने यह सीट लोकजनशक्ति पार्टी को दे दी है। जिससे गिरिराज सिंह का टिकिट रोकने में कोई परेशानी खड़ी न हो।

वहीँ पार्टी सूत्रों के मुताबिक उत्तर प्रदेश, बिहार, राजस्थान, मध्य प्रदेश में पार्टी कई ऐसे नेताओं को टिकिट देने के पक्ष में नहीं है जिन्होंने अपने अमर्यादित बयानों से पार्टी और सरकार को कटघरे में खड़े होने को मजबूर किया है।

फ़िलहाल देखना है कि पार्टी अपने बड़बोले नेताओं को टिकिट देती है अथवा नहीं। जहाँ तक गिरिराज सिंह का सवाल है तो अब माना जा रहा है कि गिरिराज सिंह को पार्टी किसी अन्य सीट से उम्मीदवार नहीं बनाएगी।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें
loading...