’नरेन्द्र मोदी के चुनाव ने देश में धार्मिक राष्ट्रवाद को हवा दे दी है: चीनी मीडिया

नई दिल्ली। चीन के सरकारी अख़बार का दावा है कि भारत के हिन्दू राष्ट्रवाद वाले रुख के चलते भारत चीन के बीच पैदा तनाव पैदा हुआ है। चीन के सरकारी अखबार ग्लाेबल टाइम्स में छपे यू निंग के संपादकीय के मुताबिक, ‘’नरेन्द्र मोदी के चुनाव ने देश में राष्ट्रवाद को हवा दे दी है।”

अख़बार के अनुसार “नरेंद्र मोदी ने सत्ता में आने के लिए बढ़ते हिंदू राष्ट्रवाद का फायदा उठाया है। इससे देश में कट्टरपंथियों का प्रभाव बढ़ा है। भारत को युद्ध से बचने के लिए धार्मिक राष्ट्रवाद को बढ़ावा नहीं देना चाहिए। भारत में मांग उठ रही है कि पाकिस्तान और चीन के खिलाफ सख्ती से पेश आया जाए। सीमा विवाद इसी का एक हिस्सा है जो धार्मिक राष्ट्रवादियों की मांग पर खरा उतरता है।‘’

लेख में आगे कहा गया है, ‘’राष्ट्र-शक्ति के मामले में भारत, चीन से कमजोर है। भारत के रणनीतिकारों और नेताओं की वजह से उसकी चीन संबंधी नीतियां धार्मिक राष्ट्रवाद के चंगुल में फंस गई हैं। इससे भारत के हितों को ही खतरा है। भारक को इस बारे में सचेत रहना चाहिए और दोनों देशों को युद्ध में धकेल देने के लिए धार्मिक राष्ट्रवाद को बढ़ावा नहीं देना चाहिए।‘’

इस लेख में 1962 के युद्ध, डोकलाम विवाद और चीन की महात्वाकांक्षी परियोजना ‘बेल्ट एंड रोड’ का भी जिक्र किया गया है। खासकर डोकलाम विवाद के बाद से लगातार चीनी मीडिया भारत को लेकर मुखर है।

 

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *