नए विवाद में फंसी बीजेपी, जयंत के बाद दंगा आरोपियों से जेल में मिलने पहुंचे गिरिराज सिंह

नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा द्वारा रामगढ मॉब लिंचिंग के आरोपियों को माला पहनाकर स्वागत करने का मामला ठंडा भी नहीं पड़ा था कि अब एक और केंद्रीय मंत्री की करतूत के चक्कर में बीजेपी की किरकिरी हो रही है।

अब केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह के बिहार दंगों के आरोपी विहिप और बजरंगदल के कार्यकर्ताओं से नवादा जेल में मिलने पर विवाद खड़ा हो गया है। गिरिराज सिंह जिन दंगा आरोपियों से मिलने नवादा जेल पहुंचे थे उन्हें अप्रैल 2017 में राम नवमी के दौरान हुई हिंसा में शामिल होने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था।

जेल में दंगा आरोपियों से मुलाकात के बाद केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने नीतीश कुमार पर निशाना साधा। गिरिराज सिंह ने कहा कि राज्य सरकार हिंदुओं को दबाने की मानसिकता रखती है। उन्होंने कहा, ‘जिस तरह से जीतू जी और कैलाश जी को फंसाया गया है, यह दुर्भाग्यपूर्ण है।

बिहार के नवादा में इस साल मार्च में दो समुदायों के बीच हुए संघर्ष के एक आरोपी के परिवार से भी गिरिराज सिंह ने मुलाकात की। उन्होंने कहा कि ‘उन्होंने हमेशा हर तरह की परिस्थितियों में शांति बनाए रखने में मदद की है। आप उन्हें दंगाई कैसे कह सकते हैं। प्रशासन को देखना चाहिए कि क्या उन्होंने वास्तव में हिंसा भड़काई है।’

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें