दो दर्जन से अधिक महिलाओ का आरोप- इस भाजपा नेता ने लूट ली हमारी उम्र भर की कमाई

ब्यूरो (राम मिश्रा,अमेठी) : लोन दिलाने के बाद करीब 30 लाख रुपये हड़पने का आरोप लगाते हुए शनिवार को दो दर्जन से अधिक महिलाओं ने अमेठी जिले के मुसाफिरखाना पुलिस से शिकायत की है ।

महिलाओं ने पुलिस से आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करने के साथ साथ उनसे लिये गये रुपये वापस दिलाने की मांग की है ।  महिलाओं ने चेतावनी दी कि पुलिस ने कार्रवाई नहीं की तो वे धरना देने पर बाध्य होंगी ।

मुसाफिरखाना कोतवाली क्षेत्र अंतर्गत गाँव जमुवारी की निवासी मंजुला पत्नी विजय और कमलेश ने पुलिस को दी गई तहरीर में कहा है कि घरेलू उद्योग लगाने एवं चलाने हेतु हम महिलाओ ने तीन निजी फाइनेंस कंपनियों से ऋण प्राप्त किया । महिलाओ ने आरोप लगाया कि ऋण प्राप्ति के बाद चितरंजन मौर्य पुत्र हरी राम मौर्य निवासी-गाँव जमुवारी थाना- मुसाफिरखाना अमेठी ने तीन निजी कम्पनियों के प्रबन्धको से मिली भगत और धोखाधड़ी कर लगभग 30 लाख हड़प लिया और अब मौके से फरार हो गया ।

लूट ली हमारी गाढ़ी कमाई-
कोतवाली परिसर में हंगामा कर रही थाना क्षेत्र के दो गाँव जमुवारी और रामराय की करीब दो दर्जन से अधिक ग्रामीण महिलाओ का कहना है कि वे गाँव में समूह चलाकर अपने परिवार का पेट पालती है इसीलिये उन्होंने छोटे मोटे रोजगार के लिये ऋण लिया था ।

एक पीड़ित महिलाओ का कहना है कि आरोपी युवक भाजपा ओबीसी मोर्चा का क्षेत्रीय उपाध्यक्ष होने की बात कहते हुए ऋण दिलवाने की बात कही थी और ऋण दिलवाने के बाद कम्पनियों से मिलीभगत और गुमराह कर रुपये हड़प लिए।

वही ग्रामीण महिला मंजुला का कहना कि “आरोपी ने उनकी गाढ़ी कमाई पर डाका डाल दिया, जिसे हम भरने पर मजबूर हो रहे है। हम लोग बहुत गरीब है अब कहाँ जाय कुछ समझ में नही आ रहा ।”

कोतवाली परिसर में किया हंगामा-
बता दे की थाना क्षेत्र के दो गाँव जमुवारी और रामरायपुर की करीब दो दर्जन अधिक पीड़ित महिलाए कोतवाली परिसर में बैठकर घण्टो तक न्याय की गुहार लगाते हुए मामले की शिकायत कोतवाली पुलिस से की। महिलाओ ने कहा कि पुलिस आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई के साथ साथ उनसे लिये गये रुपये वापस दिलवाये ।

पुलिस ने बताया-
कोतवाली प्रभारी मुसाफिरखाना देवेश कुमार सिंह ने कहा कि महिलाओं ने तहरीर दी है। पुलिस मामले का पता कर रही है गड़बड़ी मिली तो नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें