देश में धर्मनिरपेक्षता ज़िंदा रखना कांग्रेस की ज़िम्मेदारी, सॉफ्ट हिंदुत्व से कांग्रेस हो सकती है बर्बाद

नई दिल्ली। कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने कहा है कि देश में धर्मनिरपेक्षता कायम रखना कांग्रेस की ज़िम्मेदारी है। धर्मनिरपेक्षता को ज़िंदा रखने के लिए कांग्रेस को अपनी बड़ी भूमिका का निर्वाह करना है। यदि हिंदी भाषी क्षेत्रो में कांग्रेस सॉफ्ट हिंदुत्व की तरफ जाएगी तो वह शून्य पर पहुँच सकती है।

एक साक्षात्कार में शशि थरूर ने अपनी किताब ‘एन इंट्रोडक्शन टू हिंदुइज्म’ का हवाला देते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी और उसके सहयोगी दल हिन्दू होने के नाते ‘ब्रिटिश फुटबॉल हुड़दंगियों’ से अलग नहीं हैं।

शशि थरूर ने कहा कि कांग्रेस को बहुसंख्यको के तुष्टिकरण या सॉफ्ट हिंदुत्व से बचना होगा, नहीं तो पार्टी शून्य पर पहुँच जाएगी। कांग्रेस नेता शशि थरूर का यह बयान उस समय आया है जब कांग्रेस एक बार फिर उठ खड़े होने के लिए हाथ पैर मार रही है।

अपनी किताब के विमोचन से पहले बातचीत में शशि थरूर ने पीएम मोदी और बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि सत्ता में बैठे लोग जिस तरह का प्रचार कर रहे हैं वह असल हिंदुत्व नहीं है बल्कि आस्था का विकृत रूप है।

ऐसे लोग (सत्ताधारी) हिंदुत्व का राजनैतिक इस्तेमाल करने के लिए उसको गलत तरीके से परिभाषित कर रहे हैं। उन्होंने चुनावी लाभ के लिए हिंदुत्व को छोटे पोलिटिकल टूल की तरह इस्तेमाल किया है।

थरूर ने कहा कि ऐसे में देश के लिए कांग्रेस की भूमिका और भी अहम हो जाती है। देश के सेकुलर फेस को ज़िंदा रखने के लिए कांग्रेस को अपना अहम योगदान देना होगा।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें