देश के वरिष्ठ वकील और वाजपेयी सरकार में कानून मंत्री रहे राम जेठमलानी का निधन

नई दिल्ली। देश के जाने माने वकील राम जेठमलानी का निधन हो गया है, वे 93 वर्ष के थे। वे पिछले कुछ समय से बीमार चल रहे थे। राम जेठमलानी राष्ट्रीय जनता दल के राज्य सभा सांसद थे। वे आपराधिक मामलो के मशहूर वकील थे।

राम जेठमलानी का जन्म 14 सितंबर 1923 को सिंध प्रांत के शिकारपुर में हुआ था। इनका पूरा नाम राम बूलचंद जेठमलानी था। जेठमलानी अपनी जुझारू छवि के लिए जाने जाते थे।

उन्होंने कई ऐसे मुकदमे भी लड़े, जो बेहद विवादास्पद थे। उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्यारों का मद्रास हाई कोर्ट में 2011 में केस लड़ा। स्टॉक मार्केट घोटाला केस में उन्होंने हर्षद मेहता और केतन पारेख की भी पैरवी की।

उनका सबसे विवादित केस अफजल गुरू की फांसी का बचाव करना था। जेसिकालाल हत्याकांड में उन्होंने मनु शर्मा का मुकदमा भी लड़ा था। वे अटल बिहारी वाजेपयी सरकार में कानून मंत्री और शहरी विकास मंत्री भी रहे।

जेठमलानी के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पूर्व प्रधानमंत्री डा मनमोहन सिंह, केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, गृह मंत्री अमित शाह, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल, राज्यसभा में कांग्रस के नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद आदि ने उनके घर पहुँच कर श्रद्धांजलि दी। जेठमलानी का अंतिम संस्कार लोधी रोड स्थित श्मशान घाट पर किया जा गया। इस अवसर पर भाजपा समेत विभिन्न दलों के नेता यहां मौजूद हैं।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें