देवगौड़ा को पीएम पद के लिए ममता और माया के नाम पर एतराज नहीं

नई दिल्ली। 2019 के लोकसभा चुनाव में विपक्ष के संयुक्त गठजोड़ महागठबंधन को लेकर अभी अंतिम दौर की बातचीत होना बाकी है। इस बीच पूर्व प्रधानमंत्री और जनतादल सेकुलर नेता एच डी देवगौड़ा ने कहा कि प्रधानमंत्री पद के लिए उन्हें पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी और बसपा सुप्रीमो मायावती के नाम पर कोई एतराज नहीं है।

देवगौड़ा ने कहा कि भाजपा को सत्ता से बेदखल करने के लिए विपक्ष को एकजुट करने में कांग्रेस एक अहम भूमिका निभाएगी। देवगौड़ा ने कहा कि कांग्रेस और उनकी पार्टी 2019 का आम चुनाव कर्नाटक में साथ मिल कर लड़ेंगी।

उन्होंने कहा कि जेडीएस ने क्षेत्रीय पार्टियों को एकजुट करने की अभी तक कोई कोशिश नहीं की है। हालांकि क्षेत्रीय पार्टियां भाजपा का मुकाबला करने के लिए अन्य पार्टियों से सहयोग करने को तैयार हैं।

देवगौड़ा ने कहा कि 2019 में लोकसभा चुनाव में पहले तो प्रधानमंत्री पद पर कांग्रेस के लिए राहुल गांधी के नाम का प्रस्ताव है लेकिन कांग्रेस ममता या मायावती के नाम का प्रस्ताव करती है तो उन्हें कोई आपत्ति नहीं होगी क्योंकि यह दोनों महिला उम्मीदवार हैं। ममता बनर्जी भी विपक्षी एकता की दिशा में अहम भूमिका निभा रही हैं।

गौरतलब है कि अभी हाल ही में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी कहा था कि वे पीएम पद के लिए किसी भी उस व्यक्ति का समर्थन करेंगे जो बीजेपी आरएसएस को हराये।

वहीँ बताया जाता है कि कांग्रेस चुनाव पूर्व पीएम पद के लिए किसी का नाम न थोपे जाने की विपक्षी दलों की मांग पर सहमत हो गयी है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार अब चुनाव बाद ही प्रधानमंत्री पद के लिए उम्मीदवार का चयन किया जाएगा।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें