देर रात हुई बैठक, उत्तर प्रदेश की 25 सीटों पर कांग्रेस उम्मीदवार तय

नई दिल्ली। इस वर्ष होने जा रहे लोकसभा चुनावो की तैयारी में जुटी कांग्रेस उत्तर प्रदेश पर तेज गति से काम कर रही है। गुरूवार देर रात तक कांग्रेस के वार रूम 15, गुरुद्वारा रकाबगंज रोड पर चली बैठक में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी, प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के प्रभारी ज्योतिरादित्य सिंधिया भी मौजूद थे।

पार्टी सूत्रों के मुताबिक उत्तर प्रदेश की 25 लोकसभा सीटों पर देर रात तक गहन चर्चा हुई और उम्मीदवारों के चयन की प्रक्रिया को अंतिम रूप दिया गया। सूत्रों के मुताबिक 2009 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस द्वारा जीती गयी सीटों पर पुनः उन्ही उम्मीदवारों को मौका दिया जाएगा।

सूत्रों ने कहा कि सुल्तानपुर, फ़िरोज़ाबाद और डुमरियागंज सीटो पर अभी उम्मीदवारों के चयन की प्रक्रिया को लंबित रखा गया है। 2009 में सुल्तानपुर सीट पर संजय सिंह, फ़िरोज़ाबाद सीट पर राजबब्बर और डुमरियागंज सीट पर जगदम्बिका पाल चुनाव जीते थे।

सुल्तानपुर सीट पर वरुण गांधी के फिर से चुनाव लड़ने, फ़िरोज़ाबाद सीट पर राजबब्बर द्वारा पुनः चुनाव न लड़ने और डुमरियागंज सीट पर जगदम्बिका पाल के बीजेपी में चले जाने के कारण कांग्रेस ने इन सीटों पर अभी कोई अंतिम निर्णय नहीं लिया है।

वहीँ सूत्रों की माने तो कानपुर से श्रीप्रकाश जैसवाल, उन्नाव से अनु टंडन, फैज़ाबाद से निर्मल खत्री, अकबरपुर से राजाराम पाल, झांसी से प्रदीप जैन आदित्य, बहराइच से कमल किशोर, बाराबंकी से पीएल पुनिया, प्रतापगढ़ से राजकुमारी रत्ना सिंह, धौरारा से कुंवर जतिन प्रसाद, खीरी से ज़फर अली नकवी आदि के नाम हो चुके हैं।

सूत्रों ने कहा कि अभी कई सीटें ऐसी हैं जिनको गठबंधन की बातचीत चलने के कारण उन सीटों पर अंतिम राय नहीं बन पाई है। वहीँ अलीगढ, आंवला, मुरादाबाद जैसी सीटों पर कांग्रेस नए चेहरे उतारने पर विचार कर रही है।

सूत्रों ने कहा कि कांग्रेस अभी अपना दल और प्रोग्रेसिव समाजवादी पार्टी से गठबंधन को लेकर अंतिम दौर की बातचीत कर रही है। यदि गठबंधन को लेकर शुरू हुई बातचीत सफल रहती है तो कांग्रेस 25 सीटों के अलावा शेष रही सीटों पर गठबंधन के मुताबिक उम्मीदवारों का चयन करेगी।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें
loading...