दिल्ली में खत्म हुई गठबंधन की बात, कांग्रेस ने कहा ‘सभी सात सीटें जीतेंगे’

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के लिए दिल्ली में आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच अब गठबंधन के दरवाज़े बंद हो चुके हैं। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस दिल्ली की सातों लोकसभा सीटों पर अकेले चुनाव लड़ेगी।

इससे पहले यूपीए चेयर पर्सन सोनिया गांधी और दिल्ली प्रदेश कांग्रेस की अध्यक्ष शीला दीक्षित के बीच हुई बैठक के बाद कयास लगाए जा रहे थे कि दिल्ली में आम आदमी पार्टी से गठबंधन के लिए कांग्रेस पुनर्विचार कर सकती है। हालाँकि सोनिया गांधी से मुलाकात से कुछ दिन पहले ही शीला दीक्षित ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात के बाद गठबंधन को लेकर साफतौर पर इंकार कर दिया था।

दिल्ली में गठबंधन की सभी संभावनाएं आज उस समय समाप्त हो गयीं जब दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष शीला दीक्षित ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की मौजूदगी में ‘मेरा बूथ, मेरा गौरव’ सम्मेलन में कहा, ”बहुत जल्द दिल्ली में लोकसभा चुनाव होने जा रहा है और आशा करती हूं कि हम सातों सीटें जीतेंगे।’

उन्होंने कहा, ‘हम आपको इस देश का नेता देखना चाहते हैं। अगर हमें अच्छा और बढ़ता हुआ हिंदुस्तान चाहिए तो यह सिर्फ राहुल गांधी के नेतृत्व से ही संभव है।’

वहीँ पार्टी के दिल्ली प्रभारी पीसी चाको ने कहा था कि लोकसभा चुनाव में ‘लोकतंत्र की हत्या’ करने वाले लोगों के खिलाफ लड़ाई है और हम इस लड़ाई को जीतेंगे। गौरतलब है कि दिल्ली की सात लोकसभा सीटों पर 12 मई को मतदान होगा और 23 मई को नतीजे आएंगे।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें
loading...