दिल्ली: आप – कांग्रेस के बीच बन गयी गठबंधन की बात, ये फॉर्मूला हुआ तय: सूत्र

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के लिए  दिल्ली में आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच गठबंधन का मसौदा तय हो गया है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक दिल्ली की 7 लोकसभा सीटों में से आम आदमी पार्टी 4 और कांग्रेस 3 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के सूत्रों ने इस बात की पुष्टि की है।

इतना ही नहीं सूत्रों ने दिल्ली के अलावा हरियाणा में भी आप और कांग्रेस के बीच गठबंधन की पुष्टि की है। कांग्रेस हरियाणा की दस लोकसभा सीटों में से आम आदमी पार्टी के लिए एक सीट छोड़ेगी। इस सन्दर्भ में आधिकारिक तौर पर जल्द एलान हो जायेगा।

सूत्रों ने कहा कि हरियाणा में आम आदमी पार्टी दो सीट और दिल्ली में पांच सीटें मांग रही थीं लेकिन दोनों दलों के बीच हुई बातचीत के बाद दिल्ली में आम आदमी पार्टी 04 सीटों और हरियाणा की 01 सीट पर मान गयी है।

सूत्रों ने बताया कि गठबंधन में दिल्ली में कांग्रेस को चांदनी चौक के अलावा नार्थ वेस्ट और नई दिल्ली लोकसभा सीट मिली है। वहीँ अन्य चार सीटों पर आम आदमी पार्टी अपने उम्मीदवार खड़े करेगी। वहीँ आम आदमी पार्टी से हरियाणा की करनाल या गुड़गांव सीट में से एक सीट का चयन करने के लिए कहा गया है। इस पर आम आदमी पार्टी कल तक अपना निर्णय लेगी।

गौरतलब है कि दिल्ली में आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच गठबंधन को लेकर लगातार ख़बरें आती रहीं हैं। वहीँ दिल्ली में आप के साथ गठबंधन को लेकर कांग्रेस में एक राय नहीं बन पा रही थी।

दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष शीला दीक्षित तथा कुछ अन्य नेता आम आदमी पार्टी के साथ गठबंधन के पक्षधर नहीं थे। वहीँ दूसरी तरफ दिल्ली प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी पीसी चाको और पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अजय माकन आप के साथ गठबंधन की वकालत कर रहे थे।

इस मामले को हल करने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने दिल्ली प्रदेश कांग्रेस के पदाधिकारियों के साथ एक बैठक भी की थी। इस बैठक के बाद दिल्ली में गठबंधन को लेकर अंतिम फैसला लेने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को अधिकृत कर दिया गया था।

कांग्रेस के चुनावी घोषणा पत्र के रिलीज होने के दौरान आयोजित कार्यक्रम में एक सवाल के जबाव में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा था कि गठबंधन को लेकर उनकी पार्टी का रुख बेहद लचीला है और उनकी पार्टी ने देशभर में गठबंधन तय किये हैं।

फिलहाल देखना है कि अब सूत्रों के माध्यम से आयी गठबंधन की खबर कसौटी पर कितनी खरी बैठती है। यदि दिल्ली में आप और कांग्रेस के बीच गठबंधन होता है तो यह तय माना जा रहा है कि सभी 7 सीटों पर बीजेपी के लिए कड़ी चुनौती पैदा हो जाएगी।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें