दिग्विजय सिंह की नर्मदा यात्रा में हुआ तीन धुरंधरों का मिलन

भोपाल। मध्य प्रदेश में नर्मदा यात्रा पर निकले कांग्रेस नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह की यात्रा में कांग्रेस नेता कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया के पहुँचने से मध्य प्रदेश में एक बार फिर कांग्रेस एकजुट दिखी।

मध्य प्रदेश में तीनो नेताओं की गिनती बड़े और कद्दावर नेताओं में होती है। जहाँ दिग्विजय सिंह मध्य प्रदेश के दो बार मुख्यमंत्री रह चुके हैं वहीँ कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया केंद्र में मंत्री रह चुके हैं। तीनो नेताओं का प्रदेश में बड़ा प्रभाव होने के बावजूद कांग्रेस पिछले लबे समय से सत्ता से दूर है।

यह पहला मौका था जब दिग्विजय सिंह द्वारा नर्मदा यात्रा में आमंत्रित न होने के बावजूद कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया और कमलनाथ ने पहुंचकर प्रदेश की जनता को एक बड़ा सन्देश दिया।

मध्य प्रदेश में अगले वर्ष चुनाव होने हैं। ऐसे में तीन बड़े नेताओं का एकसाथ आना न सिर्फ पार्टी के लिए सुखद है बल्कि सत्ताधारी बीजेपी के लिए बड़े खतरे की घंटी भी है।

जहाँ तक चुनाव में मुख्यमंत्री के तौर पर प्रोजेक्ट करने का सवाल है तो कमलनाथ पहले ही ज्योतिरादित्य सिंधिया का नाम आगे बढ़ा चुके हैं , वहीँ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने स्वयं को सीएम की रेस से अलग कर लिया है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें