दलित वोटो में सेंध लगाने के लिए कांग्रेस ने बनाई 35 सदस्यों की टीम

लखनऊ। 2019 के लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश में अपनी ज़मीन तलाश रही कांग्रेस अब अपने प्रदर्शन को बेहतर बनाने और अधिक से अधिक सीटें जीतने की कवायद के तहत सधी हुई रणनीति से आगे बढ़ रही है।

प्रियंका गांधी को पूर्वी उत्तर प्रदेश और ज्योतिरादित्य को पश्चिमी उत्तर प्रदेश का प्रभार दिए जाने के बाद अब कांग्रेस अपने उन मतदाताओं को चिन्हित कर रही है जिन्हे लेकर वह जीत का तानाबाना बुनेगी।

कांग्रेस ने इस काम के लिए 35 सदस्यों की एक टीम बनाई है। यह टीम समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी के गठबंधन को नुक्सान पहुंचाए बिना उन मतदाताओं पर काम करेगी जो छिटक कर बीजेपी में पहुँच जाता है।

यह टीम उत्तर प्रदेश में दलित और ओबीसी मतदाताओं के उस समूह पर काम करेगी जो जाने अनजाने में बीजेपी को वोट दे देता है और जीत में निर्णायक भूमिका अदा करता है। इस टीम की अगुवाई अनुसूचित जाति विभाग के प्रवक्ता एसपी सिंह करेंगे।

पीटीआई की रिपोर्ट के मुताबिक एसपी सिंह ने बताया कि ‘हम प्रियंका गांधी और ज्योतिरादित्य सिंधिया दोनों के साथ काम करेंगे। हमने करीब 40 ऐसी सीटों को चिन्हित किया है जहां दलित मतदाताओं की संख्या 20 फीसदी से ज्यादा है। इनमें 17 आरक्षित सीटें भी शामिल हैं।’ उन्होंने कहा, ‘प्रियंका और सिंधिया की जनसभाओं और कार्यक्रमों में भी हम दलित समुदाय की समुचित भागीदारी सुनिश्चित करेंगे।’

यह पूछे जाने पर कि क्या कांग्रेस की इस पहल से सपा-बसपा गठबंधन को सीधा नुकसान नहीं होगा तो सिंह ने कहा, ‘यह गलत धारणा है सभी दलित वोट बसपा को मिलते हैं। उनके साथ आधे दलित वोटर जाते हैं, लेकिन शेष दूसरे दलों के साथ चले जाते हैं। इसलिए इस पहल को गठबंधन को नुकसान पहुंचाने के प्रयास की दृष्टि से देखना पूरी तरह गलत है।’

उन्होंने कहा, ‘ हम उन वोटरों को अपने साथ लाने की कोशिश करेंगे जो पिछले चुनावों में किसी वजह से भाजपा की तरफ चले गए थे। हम दलित समाज को यह बताएंगे कि भाजपा आरक्षण खत्म करना चाहती है और संविधान बदलना चाहती है।’

गौरतलब है कि कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी और ज्योतिरादित्य सिंधिया कल 11 फरवरी से यूपी के दौरे पर होंगे। कल प्रियंका गांधी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के प्रभारी ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ लखनऊ एयरपोर्ट से लेकर प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय तक बड़ा रोड शो करेंगी।

चार दिन तक ज्योतिरादित्य सिंधिया और प्रियंका गांधी उत्तर प्रदेश में रहेंगे और इस दौरान वे प्रदेश कांग्रेस के पदाधिकरियों और कार्यकर्ताओं से मुलाक़ात कर 2019 की तैयारियों को अंतिम रूप देंगे।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें