दलित, मुस्लिम, ओबीसी कॉम्बिनेशन पर तेजी से काम कर रही कांग्रेस

नई दिल्ली। 2019 के आम चुनावो को ध्यान में रखकर अपने पुराने वोट बैंक को पार्टी से फिर से जोड़ने की कवायद के तहत कांग्रेस दलित, मुस्लिम और ओबीसी कॉम्बिनेशन पर तेजी से आगे बढ़ रही है।

दलित और ओबीसी बुद्धजीवियों के साथ मेल मुलाकात के अब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी बुधवार को मुस्लिम बुद्धजीवियों से मुलाकात करेंगे। पार्टी सूत्रों के अनुसार बुधवार को कांग्रेस अध्यक्ष मुस्लिम बुद्धजीवियों, डॉक्टरों, इंजीनियरों, शिक्षाविदो और ख्याति प्राप्त लोगों के साथ बैठक करेंगे।

इस बैठक में गीतकार जावेद अख्तर, शबाना आज़मी, योजना आयोग के पूर्व सदस्य सैयदा हमीद, इतिहासकार इरफ़ान हबीब, शिक्षाविद ज़ोया हसन, सामाजिक कार्यकर्त्ता शबनम हाशमी, पूर्व पीएम मनमोहन सिंह के ओएसडी ज़फर महमूद, व्यवसायी सिराज कुरैशी सहित करीब 40 लोगों को आमंत्रित किया गया है।

इससे पहले हाल ही में कांग्रेस द्वारा ओबीसी सम्मलेन आयोजित कर बीजेपी के पिछड़ा वर्ग के वोट बैंक में सेंध लगाने की कोशिशें शुरू की थीं। कभी कांग्रेस का परम्परागत वोट बैंक रहे पिछड़े वर्ग और अति पिछड़े वर्ग के मतदाताओं को कांग्रेस के साथ फिर जोड़ने के लिए कांग्रेस का ओबीसी विभाग सक्रियता से काम कर रहा है।

राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनावो के मद्देनज़र दलित , मुस्लिम और ओबीसी कॉम्बिनेशन को पार्टी बीजेपी के खिलाफ ब्रम्हास्त्र की तरह मानकर चल रही है।

पार्टी सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस एक ऐसे फॉर्मूले पर काम कर रही है जिसे वह विधानसभा और लोकसभा दोनों चुनावो में उपयोग कर सके। पार्टी सूत्रों के मुताबिक संगठन के प्रभारी महासचिव अशोक गहलोत चाहते हैं कि कांग्रेस अपने परम्परागत वोट बैंक को दोबारा हासिल करे।

यही कारण है कि पार्टी विपक्ष को एकजुट करने वाले महागठबंधन और बिना महागठबंधन के चुनाव लड़ने के दो फॉर्मूलों पर काम कर रही है। सूत्रों के अनुसार यदि 2019 चुनावो में राष्ट्रीय स्तर पर विपक्ष का महागठबंधन नहीं बन पाता तो ऐसे हालत में कांग्रेस क्षेत्रीय स्तर पर अलग अलग पार्टियों के साथ गठबंधन करके चुनाव लड़ेगी।

वहीँ जानकारों की माने तो यदि कांग्रेस दलित मुस्लिम और ओबीसी कॉम्बिनेशन को मजबूत कर पाती है तो वह बिना किसी गठबंधन के भी अच्छा प्रदर्शन कर सकती है। इतना ही नहीं दलित मुस्लिम ओबीसी कॉम्बिनेशन बीजेपी के कटटर हिंदुत्व एजेंडे को ध्वस्त कर सकता है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *