दबंग ठाकुरो का कहर: कश्यप बिरादरी के घरो पर हमला, औरतो,बच्चो को भी बेरहमी से पीटा

अलीगढ। अलीगढ जनपद के लोधा थाना अंतर्गत आने वाले गाँव नंदपुर पला में दबंग ठाकुरो ने कश्यप बिरादरी के घरो पर हमला बोलकर करीब दो दर्जन लोगों को ज़ख़्मी कर दिया। इनमे महिलाएं और बच्चे भी शामिल हैं।

मामला बीते शनिवार का है जब प्रकाश कश्यप के घर गोंडा क्षेत्र में रहने वाला उसका भांजा योगेंद्र आया हुआ था तो गाँव के ठाकुर बिरादरी के रिंकू सिंह पुत्र चोब सिंह, उसके भाई मनवीर व राजेंद्र पुत्र निहाल सिंह ने बिना कारण योगेंद्र की पिटाई कर दी।

इस घटना के बाद दोनो बिरादरी के बड़े लोगों ने दोनों पक्षों को बैठाकर सुलह करा दी थी लेकिन इसके बावजूद अगले ही दिन ठाकुर बिरादरी के लोगों ने फिर से कश्यप बिरादरी के लोगों पर हमला बोला।

पीड़ित पक्ष के मुताबिक गाँव के ठाकुर बिरादरी के लोग भाला-बल्लम व लोहे के राड से लैस थे। उन्होंने कश्यप बिरादरी के लोगों पर हमला किया जिससे कई लोग गंभीर रूप से घायल हो गए।

इतना ही नहीं जब ठाकुरो के भी से कुछ लोग जान बचाकर पड़ोस में रहने वाले अशोक शर्मा के घर में छिप गए तो हमलावर वहां भी पहुंच गए। विरोध करने पर उन्होंने अशोक के बेटे-बेटी व पत्नी को भी पीट-पीटकर घायल कर दिया।

कश्यप परिवार के लोगों का कहना है कि हमलावर प्रीति की तीन दिन की एक बच्ची की गर्दन पर पैर रखकर उसको मौत घाट उतारना चाहते थे। प्रीति के अनुसार हमलावर उसकी तीन दिन की बच्ची को छीन कर ले गए। अपनी नवजात बच्ची को ठाकुरो से वापस लेने के लिए प्रीती को ठाकुरो के पैर पकड़ने पड़े।

पीड़ितों के अनुसार इस मामले में पुलिस बरोली से बीजेपी विधायक ठाकुर दलवीर सिंह के इशारे पर काम कर रही है। पीड़ितों के अनुसार पुलिस ने गंभीर रूप से घायल लोगों का सही से मेडिकल तक नहीं कराया। इतना ही नहीं पुलिस ने हमलवरों के ऊपर मामूली सी धाराएं लगायी हैं।

ठाकुरो के हमले में गंभीर रूप से घायल मुन्नी देवी पत्नी मनोहरलाल, मनोहर लाल पुत्र देवीराम, योगेंद्र पुत्र लालराम, सुमन देवी पत्नी राकेश, सुमन पुत्री धर्मवीर, प्रकाश पुत्र अशोक, सावित्री पत्नी अशोक, प्रीती पत्नी प्रकाश, कमलेश पत्नी छोटेलाल, पुष्पादेवी पत्नी डोरीलाल, मनोज पुत्र पीतंबर, राकेश पुत्र निरंजनलाल आदि को उपचार के लिए मलखानसिंह जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

पीड़ितों के अनुसार यदि पुलिस ने उचित कार्यवाही नहीं की तो उन्हें मजबूरन गाँव से पलायन करना पड़ेगा। पीड़ित कश्यप समुदाय के लोगों ने कहा कि इससे पहले गाँव के मुसलमान भी राजपूतो के भय से गाँव छोड़ चुके हैं। पीड़ितों ने कहा कि गाँव के ठाकुरो को राजनैतिक संरक्षण प्राप्त है और उनके यहाँ बीजेपी विधायक दलवीर सिंह का आना जाना है।

पीड़ितों ने अपनी जान माल की सुरक्षा की गुहार लगाते हुए हमलावरों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करने की मांग की है। गाँव में ठाकुर समुदाय के दबंगो द्वारा कश्यप बिरादरी के लोगों पर हुए हमले के बाद कश्यप बिरादरी के लोग सहमे हुए हैं। हालाँकि गाँव में पुलिस तैनात कर दी गयी है।

 

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *