तेलंगाना में बोले राहुल: 5 साल बाद भी तेलंगाना का सपना अधूरा, BJP की मदद कर रहे KCR

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने तेलंगाना के निर्मल में आयोजित एक चुनावी सभा को सम्बोधित करते हुए तेलंगाना की केसीआर सरकार और केंद्र की मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि 5 साल होने वाले हैं तेलंगाना का जो सपना था वो अधूरा है, टूट गया।

अपने भाषण की शुरुआत में राहुल गांधी ने कहा कि आज हम यहाँ आकर कौमाराम भीम जी को याद करते हैं। वे आदिवासियों और इस देश लड़े थे और उन्ही की तरह हम आज डा भीमराव अंबेडकर जी के लिए लड़ते हैं और पूरेदेश आंबेडकर जी की याद करता है लेकिन पता नहीं क्यों यहाँ के जो चीफ मिनिस्टर हैं उन्हें अम्बेडकरजी का नाम अच्छा नहीं लगता है।

राहुल गांधी ने आगे कहा कि तेलंगाना में आंबेडकर प्रोजेक्ट जो इरिगेशन का प्रोजेक्ट था, आपने चीफ मिनिस्टर ने उसका नाम बदला और चीफ मिनिस्टर ने आंबेडकर जी का अपमान किया। जो प्रोजेक्ट 38 हज़ार करोड़ का था उसे चीफ मिनिस्टर ने बदलकर एक लाख करोड़ का कर दिया।

राहुल गांधी ने तेलंगाना के सीएम पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए कहा कि राजीव सागर प्रोजेक्ट, इंदिरा सागर प्रोजेक्ट की असल लागत 2500 करोड़ रुपये थी, इसको मुख्यमंत्री ने बदलकर 12000 करोड़ रुपये कर दिया; जहां भी देखें मुख्यमंत्री भ्रष्टाचार करते रहते हैं।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि मुख्यमंत्री केसीआर ने कहा था कि केन्द्र पर दबाव डालकर वो टर्मरिक बोर्ड को निजामाबाद लायेंगे, क्या उन्होंने टर्मरिक बोर्ड यहां खुलवाया?

उन्होंने कहा कि तेलंगाना में केसीआर बीजेपी की मदद कर रहे हैं, जहां भी भाजपा कोई निर्णय लेती है केसीआर उनके साथ खड़े हो जाते हैं और अब नरेन्द्र मोदी की मदद करने में केसीआर के साथ एमआईएम भी लग गयी है।

उन्होंने कहा कि हम किसानो और आदिवसियों के अधिकारों की रक्षा के लिए बिल लेकर आये थे। जिससे कोई इनकी ज़मीन न छीन सके। उन्होंने कहा कि हम भूमि अधिग्रहण कानून लेकर आये जिसे मोदी सरकार ने बदलने की कोशिश की लेकिन हम इसके खिलाफ संसद से सड़क तक लडे और कानून नहीं बदलने दिया।

राहुल गांधी ने कहा कि जब मोदी सरकार भूमि अधिग्रहण कानून नहीं बदल सकी तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कुछ राज्यों से कहा कि इस कानून को राज्यों में रद्द कर दें। उन्होंने कहा कि तेलंगाना की सरकार ने भूमि अधिग्रहण कानून को राज्य में लागू नहीं होने दिया।

राहुल गांधी ने राज्य सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि तेलंगाना में के सी आर सरकार ने हर परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने, एससी/एसटी के प्रत्येक व्यक्ति को 3 एकड़ ज़मीन और आदिवासियों को 12% आरक्षण देने का अहम वादा किया था, लेकिन इनमे से एक भी वादा पूरा नहीं किया गया।

राहुल गांधी ने कहा कि यूपीए की सरकार ने 10 साल में सबसे ज्यादा लोगों को गरीबी से निकालने का काम किया। तेलंगाना में बेरोज़गार युवाओं को 3000 रुपये का बेरोज़गारी भत्ता कांग्रेस पार्टी दिलवायेगी।

राहुल गांधी ने राफेल मुद्दा उठाते हुए कहा कि जैसे तेलंगाना में केसीआर ने 38000 करोड़ के प्रोजेक्ट को 1 लाख करोड़ में बदला, वैसे ही केन्द्र में मोदी जी ने 526 करोड़ के हवाई जहाज को 1670 करोड़ में खरीदा। चौकीदार ने चोरी करवा दी।

गौरतलब है कि तेलंगाना में विधानसभा चुनाव होने जा रहे हैं। यहाँ 119 सीटों के लिए 7 दिसंबर को मतदान होना है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें