तेलंगाना में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने बोला झूठ, चुनाव आयोग पहुंची कांग्रेस

नई दिल्ली। कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह कांग्रेस द्वारा तेलंगाना विधानसभा चुनावो के लिए जारी किये गए घोषणा पत्र को लेकर सार्वजनिक रूप से गलत बयानी कर रहे हैं।

कांग्रेस के एक प्रतिनिधिमंडल ने मंगलवार को चुनाव आयोग से मुलाकात की और इस बारे में एक ज्ञापन देकर भाजपा अध्यक्ष के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है।

पत्रकारों से बात करते हुए कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने कहा कि 2 दिसंबर को तेलंगाना के रंगारेड्डी जिले के आमंगल में रैली के दौरान भाजपा अध्यक्ष ने कांग्रेस के घोषणा पत्र के वादों को गलत तरह से पेश किया है और सांप्रदायिक माहौल बिगाड़ने का प्रयास किया है। इसके लिए भाजपा अध्यक्ष को नोटिस दिया जाए और उनके खिलाफ कार्रवाई की जाए। कांग्रेस ने राज्य में निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए सख्त कदम उठाने की मांग भी की है।

कांग्रेस नेताओं ने पार्टी के तेलंगाना के कार्यकारी अध्यक्ष रेवंत रेड्डी को रात में तीन बजे गिरफ्तार किए जाने का मुद्दा भी उठाया। उन्होंने कहा कि इसका मकसद कांग्रेस को नुकसान पहुंचाना है। आयोग को इस मामले में सरकार से पूछना चाहिए कि उन्हें किस जुर्म के लिए गिरफ्तार किया गया है।

गौरतलब है कि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने तेलंगाना रंगारेड्डी जिले के आमंगल में रैली में बोलते हुए कहा कि “मित्रों, इन्होंने वादा किया है मस्जिद और चर्च की बिजली माफ करेंगे, मैं उनको पूछता हूं भैया मंदिर का क्या दोष है। मंदिरों की बिजली क्यों माफ नहीं करोगे, सिर्फ मस्जिद और चर्च की ही करोगे। मैं उनसे पूछता हूं कि क्या मंदिरों ने कुछ गलत किया है?”

इतना ही नहीं बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के भाषण के इस अंश को कई बीजेपी नेताओं और समर्थको ने ट्विटर पर ट्वीट और रीट्वीट भी किया था। दरअसल अमित शाह ने अपने भाषण में जो कुछ कहा वह सच नहीं है।

“कांग्रेस के घोषणापत्र के पेज नंबर 21 पर सभी धर्मस्थलों को मुफ्त बिजली का वादा किया गया है। इसमें पहला शब्द ही temple है, यानी मंदिर। उसके बाद मस्जिद, चर्च और दूसरे धार्मिक स्थलों का जिक्र है। इतना ही नहीं, 643 मंदिरों के पुजारियों और स्टाफ के लिए दुर्घटना बीमा का वादा भी किया गया है।”

खबर पसंद आये तो शेयर अवश्य करें

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें