तेजस्वी का साथ देने जंतर मंतर पहुंचे राहुल, जुटे विपक्ष के नेता, संघ बीजेपी, नीतीश पर निशाना

नई दिल्ली। बिहार के मुजफ्फरपुर बालिका गृह यौन शोषण मामले के खिलाफ दिल्ली के जंतर मंतर पर प्रदर्शन करने पहुंचे राष्ट्रीय जनता दल नेता तेजस्वी यादव को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सहित विपक्ष के कई दिग्गजों का साथ मिला है।

इस समय केंडिल मार्च में जंतर मंतर पर तेजस्वी का साथ देने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, दिल्ली के सीएम अरविन्द केजरीवाल, लोकतान्त्रिक जनता दल के फाउंडर शरद यादव, कम्युनिस्ट नेता डी राजा आदि पहुँच चुके हैं। वहीँ तेजस्वी की बहिन मीसा भारती भी वहां मौजूद हैं।

जंतर मंतर पहुंचे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि एक तरफ आरएसएस और बीजेपी की सोच और दूसरी तरफ पूरे हिंदुस्तान की सोच है। उन्होंने कहा कि देश में अजीब सा माहौल बन गया है। कमजोर लोगों पर खुलेआम हमला हो रहा है। हम देश की महिलाओं के साथ खड़े हैं. उन्होंने कहा कि अगर मामले में नीतीश कुमार को शर्म आ रही है, तो उनको जल्द से जल्द कार्रवाई करनी चाहिए।

हुल गांधी ने कहा कि हम यहां सिर्फ मुजफ्फपुर कांड की पीड़ित 40 बच्चियों के लिए ही नहीं, बल्कि हिंदुस्तान की हर महिला और बच्ची के लिए यहां आए हैं। हम यहां आकर देश के लोगों को बताने आए हैं कि हम देश की बच्चियों और महिलाओं के साथ खड़े हैं।

नीतीश चाचा की अंतरात्मा नहीं जागी :

इससे पहले राष्ट्रीय जनता दल नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि पीड़ित बच्चियों को बदला जा सकता है। नीतीश सरकार इन बच्चियों को कहां छुपा रखी है, किसी को इसकी जानकारी नहीं हैं। उन्होंने इन बच्चियों को दिल्ली लाने और सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में मामले की जांच कराने की मांग उठाई।

तेजस्वी यादव ने कहा कि जो बच्ची दरिंदों के बारे में ज्यादा जानती थी, उसको सबसे पहले दूसरे शेल्टर होम में शिफ्ट किया गया। नीतीश सरकार पर निशाना साधते हुए तेजस्वी ने कहा कि आज बिहार में जंगलराज नहीं, बल्कि राक्षस राज चल रहा है। उन्होंने कहा कि मामले की जांच सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में होनी चाहिए।

तेजस्वी यादव ने कहा कि मुजफ्फपुर की घटना से खून खौलता है। हम समाज के जिंदा लोग हैं। उन्होंंने कहा कि आज हम दिल्ली इसलिए पहुंचे हैं कि हमारे चाचा (नीतीश कुमार) की अंतरआत्मा नहीं जाती है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मुजफ्फरपुर के दोषियों के खिलाफ मुकदमा चलाकर उनको तीन महीने में फांसी दी जाए। उन्होंने कहा कि इस मामले में बच्चियों से बलात्कार करने वालों से ज्यादा सत्ता पर बैठे वो लोग जिम्मेदार हैं, जिनकी जानकारी में ऐसा घृणित कृत्य होता रहा।

इस दौरान उन्होंने बीजेपी पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि आज देश का माहौल ऐसा है कि बीजेपी की महिलाएं तक सुरक्षित नहीं हैं। उन्होंने कहा कि विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को तक नहीं छोड़ा जा रहा है। बीजेपी वाले अपनी पार्टी की महिलाओं तक को नहीं छोड़ रहे हैं।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें