तीसरे मोर्चे की कोशिशों को झटका, डीएमके ने कहा ‘हम कांग्रेस के साथ’

चेन्नई। देश में गैर कांग्रेस – गैर बीजेपी तीसरा मोर्चा बनाने की कोशिश में जुटे तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव के प्रयासों को उस समय बड़ा झटका लगा जब तमिलनाडु में डीएमके अध्यक्ष एम के स्टालिन ने तीसरे मोर्चे में शामिल होने से इंकार कर दिया।

स्टालिन ने कहा कि उनकी पार्टी का कांग्रेस के साथ गठबंधन है और वे स्वयं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को प्रधानमंत्री बनाने का समर्थन कर चुके हैं। स्टालिन के चंद्रशेखर राव से कांग्रेस का समर्थन करने का भी आग्रह किया।

इससे पहले तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने डीएमके प्रमुख एम के स्टालिन से मुलाकात कर तीसरे मोर्चे में शामिल होने का अनुरोध किया था। इस बैठक में डीएमके के वरिष्ठ नेता दुरईमुरुगन और टी आर बालू शामिल भी थे और उन्होंने कहा कि केंद्र में सिर्फ कांग्रेस की अगुवाई वाली सरकार के लिए अनुकूल माहौल है।

तीसरा मोर्चा बनाने के लिए के चंद्रशेखर राव कई पार्टियों के नेताओं से मिल चुके हैं। अभी हाल ही में राव ने केरल के मुख्यमंत्री और सीपीएम नेता पी विजयन से भी मुलाकात की थी। इससे पहले चंद्रशेखर राव पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, सपा के अध्यक्ष अखिलेश यादव और आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविन्द केजरीवाल से भी मुलाकात कर चुके हैं।

डीएमके का साफ़ तौर पर कहना है कि उसका कांग्रेस के साथ गठबंधन है और इस समय केंद्र में क्षेत्रीय दलों की अगुवाई में सरकार बनने की संभावना नहीं है। इसलिए के चंद्रशेखर राव को केंद्र में सरकार बनाने के लिए कांग्रेस का समर्थन करना चाहिए।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें