तीन तलाक बिल पर आज राज्य सभा में आरपार, कांग्रेस ने जारी किया व्हिप

नई दिल्ली। तीन तलाक बिल पर कल गहमागहमी बढ़ने के बाद राज्य सभा स्थगित करने के बाद आज शीतकालीन सत्र में राज्यसभा की कार्रवाही का अंतिम दिन है। इस बीच कांग्रेस द्वारा अपने सभी सदस्यों से सदन में मौजूद रहने के लिए व्हिप जारी किया है।

कल भी विपक्ष तीन तलाक बिल को सेलेक्ट कमेंटी के पास भेजे जाने की अपनी मांग पर अड़ा रहा। जानकारों की माने तो राज्य सभा में मोदी सरकार अल्पमत में है और उसके पास इस बिल को स्टैंडिंग कमेटी के पास भेजने के अलावा कोई दूसरा चारा बचा नहीं है।

प्रमुख विपक्षी कांग्रेस सदस्यों ने बिल में शामिल कई प्रावधानों को लेकर कड़ी आपत्ति जताई। विपक्ष के अन्य सांसदों ने भी कांग्रेस के सुर में सुर मिलाए। संसद के बाहर केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि यह सिर्फ साढ़े तीन क्लॉज का बिल है लेकिन कांग्रेस पार्टी इसे लटकाना चाहती है।

उन्होंने कहा कि लोकसभा में हमारा बहुमत था और वहां रोक नहीं सकती थी, इसलिए मजबूरी में समर्थन किया और राज्यसभा में हम अल्पमत में हैं तो वो इसे लटका रही है। प्रसाद ने कहा- आज देश ने कांग्रेस का वो चेहरा देख लिया जो महिलाओं के विरोध में है।

वहीँ कल विपक्ष के नेता गुलामनबी आज़ाद ने कहा कि हम इस बिल के विरोध में नहीं हैं। हम इसमें मौजूद खामियों के अध्यन के लिए इसे सेलेक्ट कमेटी को सौंपे जाने की मांग कर रहे हैं। इस बिल में कई ऐसी चीज़ें हैं जिनसे महिलाओं को दिक्क्त झेलनी पड़ेगी। हम चाहते हैं कि इस बिल में मौजूद खामियों को दूर किया जाए उसके बाद इसे पास कराया जाए।

फिलहाल राज्य सभा की कार्रवाही पर सबकी नज़रें लगी हुई हैं। आज शीतकालीन सत्र का आखिरी दिन होने के चलते सरकार को तय करना होगा कि उसे तीन तलाक बिल को सेलेक्ट कमेटी के पास भेजना है अथवा किस तरह पास कराना है।

वहीँ कांग्रेस की माने तो पार्टी चाहती है कि तीन तलाक बिल को सेलेक्ट कमेटी के पास भेज दिया जाए। इस बिल में आवश्यक संशोधनों के बाद इसे बजट सत्र के दौरान पुनः पेश कर पास कराया जाए।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें