तीन तलाक पर योगी के मंत्री की आपत्तिजनक टिप्पणी, बर्खास्तगी की मांग

लखनऊ। देश में तीन तलाक पर छिड़ी बहस के बीच जहाँ एक तरफ ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने एक विशेष अभियान शुरू कर मुस्लिम लोगों को तीन तलाक का गलत इस्तेमाल न करने देने के जबावदेह बनाने का फैसला किया है वहीँ उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ कैबिनेट में मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने तीन तलाक को लेकर बेहद आपत्तिजनक टिप्पणी की है।

स्वामी प्रसाद मौर्या ने तीन तलाक को हबस मिटाने का जरिया करार दिया। बस्ती में एक कार्यक्रम में भाग लेने आए स्वामी प्रसाद मौर्य ने मीडिया से बातचीत में जब तीन तलाक के जुड़े सवाल का जवाब देते हुए कहा कि तीन तलाक के मुद्दे पर भारतीय जनता पार्टी मुस्लिम महिलाओं के साथ खड़ी है. अकारण, बेवजह, मनमाने तरीके से जब चाहा तलाक दे दिया जाता है।

इतना ही नहीं मौर्य ने यहाँ तक कहा कि यहां तक कि तलाक का कोई आधार ही नहीं होता। अपनी हवस को पूरा करने के लिए लगातार पत्नियां बदलते रहने का काम इसके जरिए किया जा रहा है। मौर्य ने अपने बयान में ये भी कहा कि मुस्लिम पुरुष अपनी पत्नी और बच्चों को सड़कों पर मरने के लिए छोड़ देते हैं।

स्वामी प्रसाद मौर्या के बयान पर मुस्लिम संगठनों ने अपना विरोध जताया है। ऑल इंडिया मुस्लिम महिला पर्सनल लॉ बोर्ड की अध्यक्ष शाइस्ता अंबर ने कहा कि एक तरफ मुस्लिम महिलाएं अन्याय के खिलाफ लड़ रही हैं तो दूसरी तरफ स्वामी प्रसाद मौर्य जैसे कैबिनेट मंत्री इस तरह के बयान दे रहे हैं, उन्हें इसकी कड़ी सजा दी जानी चाहिए और पद से हटा दिया जाना चाहिए। अंबर ने कहा कि मैं योगी जी से अपील करूंगी कि मौर्य को पागलखाने भेजा जाए।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *