तीन तलाक पर आज़म की दो टूंक ‘हमारे पास क़ुरान है, हमे किसी कानून की ज़रूरत नहीं ‘

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता और पूर्व केबिनेट मंत्री आज़म खान ने तीन तलाक के खिलाफ मोदी सरकार के प्रस्तावित कानून पर कहा कि हिन्दुओं की तुलना में मुसलमानो में तलाक का प्रतिशत बहुत कम है।

मंगलवार को राज्य सभा में ट्रिपल तलाक के विरुद्ध बिल पेश किये जाने पर अपनी टिप्पणी में आज़म खान ने कहा कि बीजेपी तीन तलाक के माध्यम से मुसलमानों को बांटने की कोशिश कर रही है।

आज़म ने कहा कि मुसलमानो के पास क़ुरान है उसे किसी कानून की ज़रूरत नहीं है। हमारा कानून कुरान में मौजूद है। उन्होंने कहा कि पैदा होने से लेकर मरने तक कैसे जीना है, ये कुरान में मौजूद है। अच्छे और बुरे हर काम की सज़ा भी कुरान में मौजूद है।

आज़म ने कहा कि कुरान में तलाक का तरीका स्पेसिफाइड है। उन्होंने कहा कि आईपीसी और सीआरपीसी को भी कुरान के हिसाब से बना दें। उन्होंने कहा कि बीजेपी को मुस्लिम महिलाओं से बड़ी हमदर्दी है, वह पुरुषों से भी हमदर्दी करें। आज़म ने कहा कि मुसलमानों पर कुरान की सजाओं को लागू कर दिया जाए।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें