तमिलनाडु के सरकारी कर्मचारियों पर गौरक्षको का हमला

जयपुर। रविवार को राजस्थान के बाड़मेर जनपद में ट्रको में गौवंश लेकर जा रहे तमिलनाडु सरकार के कर्मचारियों पर गौ रक्षको के कथित हमले में एक पशु चिकित्सक और दो अन्य लोग घायल हो गए। इस मामले में अब तक 4 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

बाड़मेर पुलिस के अनुसार ये सभी ट्रक जैसलमेर से गाय, बैल और बछड़ों को लेकर तमिलनाडु जा रहे थे। इनमें तमिलनाडु सरकार के पशुपालन विभाग के चार सहायक और एक पशुचिकित्सक भी सवार थे।

ट्रकों में गौवंश को राष्ट्रीय गोकुल मिशन के तहत नस्ल सुधार के लिए तमिलनाडु के चेटि्टनाड ले जाया जा रहा था। इनकी खरीद जैसलमेर से की गई थी और उसके लिखित दस्तावेज भी दल के पास थे। ट्रकों पर ‘ऑन ड्यूटी गवर्नमेंट ऑफ तमिलनाडु’ भी लिखा था लेकिन गौरक्षकों ने यह सब जाने बिना ही गौतस्कर समझ सबकी पिटाई कर डाली।

इस मामले में 50 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। वहीँ 7 पुलिस कर्मियों को ड्यूटी में लापरवाही बरतने और घटनास्थल पर देर से पहुंचने के आरोप में निलंबित किया गया है। गौरक्षकों के इस हमले में पशुचिकित्सक एन अरविंद राजा, सहायक बालामुरगन और करुपैया घायल हुए हैं। जिनको इलाज के लिए भर्ती किया गया है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *